जागरण संवाददाता, भदौरा (गाजीपुर) : विधानसभा चुनाव के दौरान शातिर कहीं मतदान प्रभावित न कर दें, लिहाजा यूपी व बिहार पुलिस ने कमर कस ली है। दोनों राज्यों की सीमाओं पर बैरियर लगाकर पुलिस ने नाकेबंदी शुरू कर दी है। अपने-अपने थाना क्षेत्र के शातिर बदमाशों की सूची भी सौंपकर एक-दूसरे से सूचनाएं आदान-प्रदान करने के साथ ही एक-दूसरे को हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया है।

विधानसभा चुनाव को लेकर यूपी-बिहार के सीमावर्ती थाना प्रभारियों की दो दौर की बैठक हो चुकी हैं। पुलिस अधिकारियों की बैठक में मुख्य मुद्दा चुनाव के दौरान शातिर बदमाशों की निगरानी, बार्डर के गांवों में बने मतदान केंद्रों की सुरक्षा और शराब तस्करी रहा। जमानियां विधानसभा के दर्जनों मतदान केंद्र बिहार सीमा पर होने के साथ ही कर्मनाशा नदी के तट पर हैं। ऐसे में एक-दूसरे राज्य के शातिर बदमाश चुनाव को प्रभावित कर सकते हैं। ऐसे बदमाशों पर नजर रखी जा रही है, जो रहने वाले बिहार के हैं और वारदात यूपी में कर रहे हैं।

यह है बार्डर पर तैयारी

- जमानियां विधानसभा में दोनों राज्यों की सीमाओं के सात स्थानों पर बैरियर लगाकर चेकिग की जा रही है।

- दोनों राज्यों के सीमावर्ती थानों की पुलिस शराब माफिया और चिह्नित शातिर बदमाशों के विरुद्ध सघन अभियान चलाएगी।

- अवैध हथियारों की चेकिग के लिए बार्डर पर दोनों राज्यों की पुलिस 24 घंटे करेगी वाहनों की चेकिग।

- कर्मनाशा नदी में नाव से पुलिस करेगी पेट्रोलिग।

- सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए सीमावर्ती थाना प्रभारी एक-दूसरे से समन्वय बनाए रखेंगे।

---

: विधानसभा चुनाव को लेकर तैयारियां पूरी हैं। जमानियां विधानसभा में बिहार सीमा के सात स्थानों पर बैरियर लगाकर चेकिग की जा रही है। बिहार सीमा पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट की भी तैनाती रहेगी।

- हितेंद्र कृष्ण, क्षेत्राधिकारी जमानियां।

Edited By: Jagran