अग्निवीर योजना के खिलाफ युवाओं को भड़काने वाले भी जाएंगे जेल

जागरण संवाददाता, गाजीपुर अग्निवीर योजना के खिलाफ युवाओं को भड़काने वालों पर भी अब शिकंजा कसेगा। इसके लिए सर्विलांस की मदद से घटनास्थल पर उनकी मौजूदगी की जांच की जाएगी। घटनास्थल के आस-पास मौजूद मोबाइल नंबरों में से आंदोलन भड़काने वालों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई की तैयारी है।

सेना भर्ती में अग्निवीर योजना लागू करने के विरोध में युवाओं ने खूब आंदोलन किया था। 18 से 20 जून तक युवाओं ने जिले में यातायात को पूरी तरह से ठप कर दिया था। बस और ट्रेन सेवाएं बाधित हो गई थी। इस दौरान युवाओं ने रेलवे लाइन पर जमकर प्रदर्शन किया था। कुछ स्थानों पर पथराव भी किया था। दूसरे जिलों में तो रेलवे की संपत्ति को काफी नुकसान पहुंचाया गया था। पथराव से एक ट्रेन का चालक घायल हो गया। चालक की तहरीर पर रेलवे सुरक्षा बल ने मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की। अब तक अग्निवीर योजना के विरोध में आरपीएफ से 25 युवा जेल जा चुके हैं, एक अभी फरार है। इसको लेकर सरकार गंभीर है। रेलवे सुरक्षा बल ने युवाओं को उकसाने वालों की तलाश शुरू कर दी है। इसके लिए सर्विलांस की मदद ली जा रही है। उस दिन घटनास्थल के आसपास मौजूद लोगों के मोबाइल नंबरों की सूची तैयार की जा रही है। सूची के आधार पर नंबरों की जांच होगी, ताकि यह पता चल सके कि अग्निवीर आंदोलन में युवाओं को भड़काने में कौन-कौन लोग शामिल थे। रेलवे सुरक्षा बल गाजीपुर सिटी पोस्ट के प्रभारी अमित राय ने बताया कि आंदोलन के दौरान मोबाइल लोकेशन स युवाओं को भड़काने वालों की पहचान की जा रही है। इसके लिए सर्विलांस की मदद ली जा रही है।

Edited By: Jagran