जागरण संवाददाता, सैदपुर (गाजीपुर) : नगर से चंदौली को जोड़ने के लिए रामकरन सेतु से शुक्रवार की सुबह अधेड़ ने गंगा में छलांग लगा दी। टहलने निकले लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने पुल से बाइक,मोबाइल व 1500 रुपये बरामद किया। मछुआरों के माध्यम से पुलिस शाम तक खोजबीन करती रही लेकिन अधेड़ का कुछ पता नहीं चल सका।

अधेड़ के गंगा में छलांग लगाने को

लेकर तरह-तरह के कारणों की चर्चा हो रही है। हालांकि अधेड़ के पुत्रने कोतवाली में गंगा में छलांग लगाने की तहरीर दी है।

खानपुर थाना क्षेत्र के भभौरा गांव निवासी गोविद यादव (50) भोर में चार

बजे घर से बाइक लेकर निकले और सैदपुर नगर स्थित रामकरन सेतु पर पहुंचे।

बाइक की डिक्की में मोबाइल व 1500 रुपये रख दिए, इसके बाद

गंगा नदी में छलांग लगा दी। कुछ दूरी पर टहल रहे लोग दौड़कर पहुंचे, लेकिन तब तक गोविद छलांग लगा चुके थे। लोगों की सूचना पर पुलिस पहुंच गई। ठंड की वजह से नदी में डुबकी लगाने वाले गोताखोर हिम्मत नहीं जुटा सके। मछुवारों के माध्यम से जाल लगाकर तलाश शुरू की गई, लेकिन शाम तक पता नहीं चल सका। मृतक के बड़े पुत्र जितेंद्र का कहना है कि एक व्यक्ति द्वारा मेरे पिता को ब्लैकमेल कर एक व्यक्ति द्वारा रुपये की मांग की जा रही थी, जिससे परेशान होकर उन्होंने यह कदम उठाया होगा। कहा कि भोर में करीब पौने पांच बजे उन्होंने मुझे फोनकर रुपये मांगे जाने की बात कही थी, लेकिन हमें पता नहीं था कि वह सैदपुर पहुंच गए हैं। जानकारी दी कि रात में वे घर पर खाना खाकर सोए थे, सुबह घर से निकले तो घरवालों ने सोचा किसी काम से गए हैं। वरिष्ठ उप निरीक्षक देवेंद्र बहादुर यादव ने बताया कि मामला संज्ञान में है। खोजबीन की जा रही है। एनडीआरएफ को भी सूचना कर दी गई है। छलांग लगाने के कारण पूछने पर बताया कि अब तक स्पष्ट कारण पता नहीं चल पाया है।

---

परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल : गोविद के गंगा में छलांग लगाने का पता चलने पर पत्नी लालमनि व तीनों शादीशुदा पुत्रों जितेंद्र, योगेंद्र

व रवि का रो-रोकर बुरा हाल है। लोग उन्हें समझाते रहे, लेकिन उनके

आंखों से आंसू निकलना बंद नहीं हो रहा है।

Edited By: Jagran