जासं, गाजीपुर : रोडवेज में डीजल एवरेज एवं कम आय को लेकर लगातार हो रही वेतन कटौती को लेकर शनिवार को चालकों एवं परिचालकों का गुस्सा भड़क उठा। इस मौके पर उन्होंने बसों के पहिए जामकर सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक (एआरएम) सुहैल अहमद का घेराव कर दिया और कटौती नहीं करने की जिद पर अड़ गए। उनकी बातों को सुनने के बाद सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक ने कटौती न करने का आश्वासन दिया। तब कहीं जाकर परिचालन बहाल हुआ।

रोडवेज कर्मचारी संयुक्त परिषद के जिला अध्यक्ष अरविद सिंह ने बताया कि बीते छह महीने से लगातार चालकों एवं परिचालकों के मानेदय से प्रति माह करीब 50 हजार रुपये से अधिक की कटौती हो रही थी जिसे लेकर चालकों एवं परिचालकों में काफी गुस्सा था। उनका कहना था कि सड़कें काफी खराब हैं और बसों की हालत भी अच्छी नहीं है। इसके चलते डीजल औसत सही नहीं आ रहा है। साथ ही बसों की स्थित अच्छी नहीं होने से यात्रियों की संख्या भी कम है इससे आय में भी कमी हो रही है। लेकिन सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक द्वारा उनकी कटौती जारी थी। इस दौरान करीब एक घंटा बसों के पहिए जाम रहे लेकिन आश्वासन के बाद बसों का परिचालन सामान्य हो गया। इस संबंध में सहायक क्षेत्रीय प्रबंधक ने कहा कि चालकों एवं परिचालकों की पूरी बातों को सूना गया है। उनको डीजल औसत एवं आय में सुधार लाने का निर्देश दिया गया है। साथ ही उनके मानेदय में कटौती न करने का आश्वासन दिया गया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस