जागरण संवाददाता, भांवरकोल(गाजीपुर): थाना क्षेत्र के फिरोजपुर निवासी एसएसबी के जवान सुभाष राम के पार्थिव शरीर का शनिवार को सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। शुक्रवार की देर रात शव फिरोजपुर पहुंचने पर श्रद्धांजलि देने वालों का तांता लग गया। उप जिलाधिकारी आशुतोष कुमार, क्षेत्राधिकारी रविद्र कुमार वर्मा एवं थानाध्यक्ष वागीश विक्रम सिंह ने उनके पार्थिव शरीर पर पुष्पांजलि अर्पित की।

सुभाष राम अपने चार भाइयों में सबसे छोटे थे। वह सीमा सड़क संगठन अरुणाचल प्रदेश में कार्यरत थे। गत 12 जनवरी को सुबह उनके सीने में दर्द हुआ। उन्हें स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया, सुधार न होने पर उपचार के लिए मिलिट्री हास्पिटल टिगाबिली रेफर किया गया, जहां चिकित्सकों ने सुभाष राम को मृत घोषित कर दिया। उनके पार्थिव शरीर को लेकर विभागीय कर्मी पीएनआर नंदकुमार शुक्रवार को आधी रात को उनके पैतृक गांव पहुंचे। सुभाष राम अपने पीछे पत्नी तारामुनी देवी तथा तीन पुत्र मनोज कुमार, विनय कुमार तथा लोकेश कुमार व पुत्र वधू स्नेहल राव आदि सहित भरा-पूरा परिवार छोड़ गए हैं।

पुलिस के जवानों ने शस्त्र सलामी दी। दोपहर 11:30 बजे उनकी शवयात्रा शुरू हुई और डेढ़ किलोमीटर दूर दक्षिण गंगा घाट पर पहुंची। बड़े पुत्र मनोज कुमार ने उन्हें मुखाग्नि दी। परिजनों ने की मांग

- उप जिलाधिकारी आशुतोष कुमार के पहुंचने पर सुभाष राम के पुत्र विनय कुमार व अन्य ने स्व. सुभाष राम के नाम पर काली मंदिर से अनुसूचित बस्ती तक सड़क निर्माण व मुख्य द्वार बनाने के साथ ही उनका नामकरण भी उनके नाम पर करने की मांग की। साथ ही मुख्यमंत्री सहायता कोष से भी कुछ सहयोग दिलाने का आग्रह किया। उप जिलाधिकारी ने यथासंभव इस संबंध में आवश्यक कदम उठाने का भरोसा दिया।

Edited By: Jagran