जागरण संवाददाता, रेवतीपुर (गाजीपुर) : शौर्य चक्र एवं युद्ध सेवा पदक प्राप्त शहीद कर्नल एमएन राय की सातवीं पुण्यतिथि सोमवार को उनके पैतृक गांव डेढ़गांवा में मनाई गई। 39 जीटीसी वाराणसी के ब्रिगेडियर राजीव नागयाल की तरफ से कर्नल आरएस राठौर ने शहीद की प्रतिमा पर पुष्पचक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। सैन्य दस्ते के जवानों ने मातमी धुन बजाकर उनकी शहादत को सलाम किया।

सेना की ओर से श्रीकृष्ण इंटर कालेज के कई छात्र-छात्राओं को शिक्षा के क्षेत्र में उपलब्धि पर पुरस्कृत भी किया गया। मुख्य अतिथि 39 जीटीसी वाराणसी के कर्नल आरएस राठौर ने कहा कि सबसे बड़ा धर्म राष्ट्र धर्म है। शहीद होना सबके नसीब में नहीं होता है। कहा कि कर्नल एम एन राय के बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। भारतीय सेना दुश्मनों को मुहंतोड़ जवाब दे रही है। समाजसेवी सच्चिदानंद राय ने कहा कि सैनिक अपने कर्तव्यों के प्रति सहज रहता है। जिम्मेदारी को अंजाम तक पहुंचाकर ही दम लेता है। कहा कि धन्य है यह धरती जिसने ऐसे वीर सपूत दिए । उन्होंने कहा कि यदि हमें उनकी वीरगाथा को याद करना है तो हमें अपने बच्चों को शुरू से ही इसके बारे में जानकारी देनी होगी । यही शहीद के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी । इस मौके पर शहीद के बड़े भाई कर्नल धीरेंद्रनाथ राय, सीआरपीएफ के कमांडेंट यतिद्र नाथ राय, शहीद की पत्नी प्रियंका राय ,केदार उपाध्याय,पूर्व कैप्टन बब्बन राम, डाक्टर नंदलाल राय, संजय श्रीवास्तव, डब्बू राय ,अश्वनी राय, हरिपाल राय आदि रहे। संचालन श्रीकृष्ण इंटर कालेज डेढ़गांवा के पूर्व प्रधानाचार्य डा. अशोक कुमार राय ने किया।

Edited By: Jagran