जागरण संवाददाता, गाजीपुर : शहर कोतवाली के जंजीपुर में पुलिस और लुटेरों में हुए मुठभेड़ में पुलिस की गोली से घायल राजन पांडेय नगसर हाल्ट थाना क्षेत्र के नूरपुर कांड का रचयिता भी रहा है। राजन शुरू से ही मनबढ़ किस्म का है। अवैध असलहा लेकर बहुत पहले से घूमता है। इसी सूचना पर पुलिस इसे तब गिरफ्तार करने पहुंची थी, पुलिस का आरोप था कि गांव के ही कुछ लोगों ने इसे जबरदस्ती भगा दिया था। मामले में मुख्यमंत्री ने स्वयं संज्ञान लिया था। इसमें तत्कालीन थानाध्यक्ष सहित कई पुलिसकर्मियों पर भी कार्रवाई की गाज गिरी थी।

पुलिस की गोली से घायल दूसरे लुटेरे किशन जायसवाल को राजन अक्सर अपने साथ लेकर घूमता था। राजन पर कई लूट जैसे कई संगीन घटनाओं के आरोप हैं, लेकिन किशन के खिलाफ किसी थाने में कोई अपराध पंजीकृत नहीं है। बताया यह भी जा रहा है कि राजन के बहकावे में ही किशन इस लूट की घटना को अंजाम देने पहुंच गया था। राजन पांडेय मध्यम वर्गीय से परिवार से है। कुछ दिन पहले से ही केंद्र संचालक की करने लगा था रेकी

: तलवल मोड़ स्थित ग्राहक सेवा केंद्र के संचालक अवकाश की कुछ दिन पहले से ही राजन पांडेय ने रेकी करना शुरू कर दिया था। कब आता है, कब जाता है, पूरी जानकारी उसके पास थी। बुधवार की सुबह सही मौका मिलने पर एक लाख 80 हजार रुपये से भरा बैग साथियों संग लूट कर फरार हो गया था।

---

मदनही के पास स्थित एक ईंट-भट्ठे पर छिप गए थे दोनों

: तलवल मोड़ पर लूट की घटना को अंजाम देने के बाद राजन और किशन दोनों मदनही के तरफ फरार हो गए। इधर, पूरे जनपद में जगह-जगह चेकिग शुरू कर दी गई। इस पर मदनही के पास स्थित एक सुनसान ईंट-भट्ठे पर चले गए। वहीं कुछ देर तक रुके रहे। जैसे ही वह बाहर निकलते पुलिस का मुवमेंट नजर आने लगता था। वह कई बार निकलने का प्रयास किए, लेकिन पुलिस को देखकर उसी ईंट-भट्ठे पर छिप जा रहे थे। देर शाम जैसे ही उन्हें मौका मिला वह बाहर निकलकर भागने लगे। तब तक पुलिस ने शहर कोतवाली के जंजीपुर के पास सटीक लोकेशन मिलने पर दोनों को चारों ओर से घेर लिया और मुठभेड़ में दोनों घायल हो गए। गुरुवार की देर शाम पुलिस दोनों को कोर्ट में पेश कर आगे की कार्रवाई में जुट गई।

---

केंद्र संचालक अवकाश पर भी किए थे फायर

: तलवल मोड़ से रुपये से भरा बैग लूटने के बाद भागते समय अवकाश ने जब कुछ दूर तक उनका पीछा किया तो लुटेरे फायर किए। ऐसे में अवकाश ने पीछा करने के बजाय गाड़ी का नम्बर नोट कर लिया।

---

रेवतीपुर में भी लूट की घटना को दे चुके हैं अंजाम

: मुठभेड़ में घायल दोनों लुटेरों से पुलिस गहन पूछताछ कर रही है। इसमें पता चला कि यह दोनों रेवतीपुर व शहर कोतवाली में भी घटना को अंजाम दे चुके हैं। रेवतीपुर थाना क्षेत्र के डेढ़गांवा चट्टी से बीते मार्च माह में बाइक लूटे थे। वहीं कोतवाली ने सिचाई विभाग चौराहा से बीते जुलाई माह में महिला का चेन छीनकर फरार हो गए थे। पकड़े गए दोनों लुटेरे नगसर हाल्ट थाना क्षेत्र के नूरपुर निवासी राजन पांडेय और किशन जायसवाल नगसर थाने में आ‌र्म्स एक्ट में जेल भी जा चुके हैं।

Edited By: Jagran