जागरण संवाददाता, खानपुर(गाजीपुर): उत्तर प्रदेश के 18वीं विधानसभा का पहला सत्र आज से शुरू हो रहा है। पूरे प्रदेश के लोगों की निगाहें यूपी सरकार-दो के बजट सत्र पर लगी हुई हैं। विधानसभा का बजट सत्र आज से शुरू होकर 31 मई तक चलेगा। इस सत्र के दौरान 26 मई को योगी सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट लाया जायेगा, जिसमें हर विभाग में रोजगार सृजित करने और लघु एवं मझोले व्यवसाय को विकसित करने का मुद्दा प्रमुख रहेगा।

सदन में सरकार का बजट वित्त मंत्री सुरेश खन्ना पेश करेंगे। इस बजट से प्रदेशवासियों की बहुत सारी उम्मीदें हैं। सेना या पुलिस में भर्ती की तैयारी करने वाले युवाओं को इस बजट सत्र से नई किरण की उम्मीद रहेगी। खेती में व्यवसायिक उपलब्धि के लिए किसानों को छूट सब्सिडी या राहत मिलने का इंतजार है। बिजली के संबंध में किसानों के लिए कोई बड़ी घोषणा की जा सकती है। कोरोनाकाल के प्रतिबंध से घाटे में रहे उद्यमियों और व्यवसायियों को भी कर राहत में रियायत मिलनी की आस जगी है। शिक्षामित्रों, खिलाड़ियों, पेंशनर सहित महिलाओं को अपने रसोईघर में सस्ते सामान पहुंचने की उम्मीद है। आभूषणों के दाम में गिरावट के बाद सौंदर्य प्रसाधन, आर्टिफिशियल ज्वेलरी को भी छूट के दायरे में रखने की चाहत है।

अर्थशास्त्री सुधाकर त्रिपाठी कहते हैं कि योगी सरकार के पहले कार्यकाल के मुकाबले इस बार का बजट थोड़ा ज्यादा बड़ा होगा, जो करीब छह लाख करोड़ तक होने का अनुमान लगाया जा रहा है। इसमें लोक निर्माण विभाग, कृषि, युवा, रो•ागार, विकास, महिला सभी वर्गों पर फोकस होगा। खास तौर से लोक कल्याण संकल्प पत्र को पूरा करने की चुनौती सर्वोपरि रहेगी।

Edited By: Jagran