जागरण संवाददाता, खानपुर (गाजीपुर) : क्षेत्र के रामपुर बाजार में समाजसेवी राजीव सिंह ने स्थानीय लोगों के साथ गड्ढे में तब्दील सड़क पर धान रोप कर विरोध जताया। वाराणसी-गाजीपुर हाइवे से सिधौना बाजार से निकलकर जिउली देवगांव हाइवे के बिहारीगंज चौराहे पर मिलने वाली तीन किमी सड़क की दुर्दशा किसी से छिपी नहीं है। सांसद, एमएलसी, विधायक एवं लोक निर्माण विभाग के उच्चाधिकारियों सहित उप मुख्यमंत्री तक इस सड़क पर बेसुमार बने गड्ढों की समस्या बताई गई है। आजमगढ़, जौनपुर, वाराणसी और चंदौली को जोड़ने वाले इस महत्वपूर्ण सड़क पर गर्मी में धूल और बरसात में पानी भरे गड्ढे राहगीरों के लिए मुसीबत बने हुए हैं। रविवार को सिधौना, इशोपुर, रामपुर, बुढीपुर, बिहारीगंज के निवासियों सहित दर्जनों राहगीरों ने रामपुर में घुटने तक पानी भरे गड्ढों में पुरुषों महिलाओं ने धान का फसल रोपकर सांकेतिक विरोध प्रकट किया। राजीव सिंह ने बताया कि इस सड़क पर गिरकर पिछले दो साल में दर्जनों महिलाएं, युवक, छात्र और बीमार लोग घायल हो चुके हैं। सेवानिवृत्त सैनिक बासदेव मौर्य, फिरोज अंसारी, अनिल सिंह, मंजीत सिंह, सुभाष यादव, कैलाश यादव, मंता देवी, तेतरी देवी, ललिता देवी आदि थीं।

Edited By: Jagran