जागरण संवाददाता, बलिया : सुखपुरा थाना क्षेत्र के सोबई बांध गांव से शनिवार को अपहृत चार वर्षीय बालक शिवम को पुलिस ने अथक प्रयास से सात घंटे में बरामद कर अपहरण करने वाली महिला को हिरासत में ले लिया।

इस संबंध में एसपी श्रीपर्णा गांगुली ने पुलिस लाइन के मनोरंजन हाल में रविवार को प्रेस वार्ता कर बताया कि महिला ने एक नि:संतान दंपती को बेचने के लिए बालक का अपहरण किया था, इसका सौदा 50 हजार रुपए में हुआ था। जिला अस्पताल में बच्ची के इलाज के लिए आई ममता देवी निवासी सोबई बांध के साथ एक अज्ञात महिला जो अपना नाम गुड़िया यादव निवासी बेदुआ एंबुलेंस कर्मचारी बताकर घुलमिल गई और महिला को घर छोड़ने के लिए घर सोबई बांध तक आ गई। इस बीच गुड़िया शिवम को समोसा खरीदवाने के बहाने चट्टी पर लेती गई। जब कुछ समय बीतने पर वापस नही लौटी तो सास अपने नाती शिवम और गुड़िया को खोजते हुई चट्टी पर गई। काफी खोजबीन के बाद भी नही मिली तो परिजनों को सूचित किया। सूचना पर पहुचीं पुलिस ने मामले को संज्ञान में लेकर गुड़िया और शिवम के खोजबीन में लग गई। इसी बीच ममता ने पुलिस को एक नम्बर दिया जिससे अपहरण करने वाली महिला ने अस्पताल में किसी से बात किया था। उसी को आधार बना पुलिस देर रात कोतवाली क्षेत्र के परमंदापुर से अपहरण करने वाली महिला को गिरफ्तार कर शिवम को सकुशल बरामद कर लिया। एसपी ने टीम को एसपी ने 25 हजार का पुरस्कार दिया।

Posted By: Jagran