जासं, गाजीपुर : अब खाद्य पदार्थ में मिलावट करने वालों की खैर नहीं है। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि विभाग ने बीते वर्ष सहित इस वित्तीय वर्ष में मिलावट करने वाले 83 व्यवसायियों पर मुकदमा दर्ज करा दिया है। इसमें 80 मामले मानक से खिलवाड़ करने वाले और तीन गंभीर मिलावट के हैं। इसे लेकर व्यापारियों में हड़कंप मचा हुआ है। विभाग का दावा है कि उसकी कार्रवाई से जिले में मिलावट करने के मामलों में कमी होगी।

खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन इस वर्ष छापेमारी कर लगातार कार्रवाई कर रहा है। विभाग की कोशिश यह होती है कि वही नमूने लिए जाएं जिसमें मिलावट की उम्मीद ज्यादा हो। हालांकि विभाग ने मिलावट की पहचान की जागरूकता के लिए जिले में फूड सेफ्टी आन व्हील वाहन मंगाया गया था जिसमें मिलावट की जांच के लिए मशीन लगी हुई थी। विभागीय अधिकारियों ने वाहन के साथ प्रमुख बाजार में जाकर लोगों को मिलावट के प्रति जागरूक किया था। इसके बावजूद बाजार में मिलावट की मात्रा कम होने का नाम नहीं हो रही है।

-

जांच के लिए भेजे जा रहे हैं नमूने

अभिहित अधिकारी अजीत कुमार मिश्र ने बताया कि इस वर्ष कुल 83 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जा चुका है। इसमें इस वित्तीय वर्ष के साथ बीते वर्ष की भी रिपोर्ट शामिल है। विभाग की कोशिश यही रहती है कि ऐसे ही नमूने लिए जाएं जिसमें मिलावट की अधिकतम उम्मीद हो। बताया कि अभियान लगातार चलाया जा रहा है। साथ ही नमूने जांच के लिए भेजे जा रहे हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस