जासं, गाजीपुर : अब ग्रामवार कैंप का आयोजन कर गोल्डन कार्ड बनाने की कवायद स्वास्थ्य विभाग की ओर से तेज कर दी गई है। इसके लिए जनपद के सभी जनसेवा केंद्रों को ब्लाकवार लाभार्थियों की सूची उपलब्ध करा दी गई है। इसका लाभ उन पात्र परिवार के सदस्यों को होगा जिनके पास अभी तक आयुष्मान योजना व सीएम जन आरोग्य का पत्र नहीं मिला है।

इसके अलावा कई ऐसे लोग है जिन्हें लाभार्थी होने की जानकारी ही नहीं है। ऐसे में उन लाभार्थियों को योजना का शत -प्रतिशत लाभ दिलाने के लिए शासन के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने कमर कस ली है। गोल्डन कार्ड जेनरेट करने के लिए ब्लाकों पर लगाए जा रहे कैंप में वे ही लाभार्थी पहुंच पाते थे जिनको पीएम व सीएम का पत्र मिल पाया था। ऐसे में जहां गोल्डन कार्ड जेनरेट करने के लक्ष्य को विभाग पूर्ण नहीं कर पता था। वहीं पात्र रहने के बावजूद भी ऐसे परिवार इस योजना से अब तक वंचित थे। इसको सरल बनाने के लिए शासन के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग ने ब्लाकवार जनसेवा केंद्रों को उपलब्ध करा दी है। इसके कर्मचारी प्रत्येक गांव में कैंप लगाने के साथ सूची के मुताबिक परिवार के प्रत्येक सदस्यों का गोल्डन कार्ड बनाने का काम करेंगे। तीन अक्टूबर से कैंप का आयोजन अभियान के तौर होगा। जिला प्रोग्राम कोआर्डिनेटर डा. जितेंद्र दुबे ने बताया कि जनसेवा केंद्र के कर्मचारी द्वारा कैंप में गोल्डन कार्ड बनाया जाएगा। इसके लिए प्रति कार्ड 30 रुपये निर्धारित शुल्क प्रति कार्ड लाभार्थियों को देना होगा। इस संबंध में सीएमओ डा. जीसी मौर्या ने बताया कि ग्राम पंचायतवार कैंप आयोजित होने से प्रत्येक लाभार्थी का गोल्डन कार्ड आसानी से बन जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस