जासं, बारा गाजीपुर : सेवराई तहसील क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों में बाढ़ के पानी से लगभग एक हजार बीघे से भी अधिक धान की फसल बर्बाद हो गई है। पिछले दिनों कर्मनाशा में आई बाढ़ के कारण इसका पानी क्षेत्र के कुतुबपुर, मगरखाई, हरकरनपुर, भतौरा, दलपतपुर सहित अन्य गांवों में ऊंचे स्थानों तक पहुंच गया था। खेतों में लगभग 10 दिनों तक पानी भरा रहा। लहलहाती धान की फसल कीचड़ से दब गई थी। पानी खत्म होने के बाद कीचड़ ज्यों का त्यों पौधों पर जमा रहा। इसके चलते पौधे पीले होकर गिरने लगे हैं। बारा के किसान जफरुल्ला खां, मैनुद्दीन खां, कुतुबपुर के जयप्रकाश राय, पिटू राय, मगरखाई के ऋषभदेव सिंह यादव, कालिका सिंह यादव, भतौरा के जोगेंद्र राय ने बताया कि सबसे अधिक क्षति उन किसानों को हुई है, जो बटाई पर प्रति बीघा 8 से 10  हजार रुपये में खेत लेकर खेती किए हैं। इन किसानों की कमर ही टूट गई है। किसानों ने मुआवजे के लिए जिलाधिकारी ओमप्रकाश आर्य से गुहार लगाई है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस