जागरण संवाददाता, गाजीपुर : क्षेत्र में आस्था का पर्व मकर संक्रांति गुरुवार को पूरे श्रद्धा और हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। सुबह में घना कोहरा छाए रहने के बावजूद मकर संक्रांति पर श्रद्धालुओं की आस्था कम नजर नहीं आई। वहीं दिन भर मकर संक्रांति के सौगातों का आना-जाना लगा रहा।

सुबह पौ फटते ही गंगा, गोमती, गांगी, एकौझी नदियों सहित अपने घरों में स्नान कर लोग देवी-देवताओं के मंदिरों में पूजा-अर्चना कर उन्हें तिल और गुड़ अर्पित किया। लोगों ने अपने परिवार के साथ चूड़ा, दही, तिलकुट, तिलवा, तिलकतरी, लाई व चिउड़ा से बना लड्डू एवं आलू, मटर, गोभी की सब्जी का स्वाद जमकर चखा। इस दौरान बच्चों ने पतंग उड़ाकर और कबड्डी खेल कर मकर संक्रांति का लुत्फ उठाया। कई जगहों पर पारंपरिक कुश्ती प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया। मकर संक्रांति के अवसर पर लोगों द्वारा गरीबों और ब्राह्मणों को चिउड़ा, तिलकुट, खिचड़ी आदि दान-स्वरूप दिया गया। मकर संक्रांति को लेकर सड़कों पर इक्के-दुक्के लोग ही नजर आए और विभिन्न बसों व सवारियों में अपने परिजनों के लिए खिचड़ी संदेश लेकर जाने वालों की काफी भीड़ देखी गयी। मकर संक्रांति के त्योहार पर पतंगबाजी न हो तो मजा अधूरा रह जाता है। लोगों ने जमकर पतंगबाजी की। खेल के मैदान सहित लोगों ने अपने-अपने घर की छत पर पतंगबाजी का भरपूर लुत्फ उठाया। मकर संक्रांति को तिला संक्रांति के नाम से भी जानते है। वहीं लोग खाने से अधिक दही-चिउड़ा दूसरे को खिलाने में मशगूल नजर आए। खानपुर थाना अध्यक्ष जितेंद बहादुर सहित सिधौना इंचार्ज योगेंद सिंह और मौधा इंचार्ज सुनील दुबे महिला पुलिसकर्मियों के साथ स्नान घाट सहित मंदिरों पर चक्रमण करते रहे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021