जागरण संवाददाता, बारा (गाजीपुर) : जल निगम की सुस्त कार्यप्रणाली से एक लाख लोगों को समय पर शुद्ध पानी मिलना मुश्किल दिख रहा है। केंद्र सरकार द्वारा संचालित नीर निर्मल योजना के अंतर्गत अब तक मात्र पचास फीसद कार्य ही पूरा हो पाया है। जनवरी 2020 तक कार्य को पूरा किया जाना है। कम समय में ज्यादा कार्य की चुनौती है।

बारा गांव में 15 करोड़ रुपये की लागत से दो नए ओवरहेड टैंक का निर्माण, एक ओवरहेड टैंक का रिपेयरिग, सात पंप हाउस का निर्माण करना है। कार्य जनवरी 2019 में शुरू हुआ था। पूरे गांव में पाइप लाइन बिछाने का लक्ष्य है। पाइप लाइन बिछाने के लिए गांव के कई मोहल्लों में जगह-जगह सड़क को खोदकर पाइप डाल दिया गया है। गड्ढों को जैसे - तैसे भरकर कार्य की इतिश्री कर ली जा रही है। गांव के लोगों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इधर, जेई कुंदन कुमार ने बताया कि अब तक पचास फीसद काम पूरा हो चुका है। शेष बचे कार्य को समय पर पूरा करने का हर संभव प्रयास होगा। पाइप लाइन बिछाने का काम पूरा होने के बाद लीकेज चेक होगा। इसके बाद सड़क के गड्ढों को भर दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस