जागरण संवाददाता, नंदगंज (गाजीपुर) : थाना क्षेत्र के राठौली गांव में बुधवार की दोपहर गेहूं की मड़ाई के दौरान ट्रैक्टर चालित थ्रेसर में फंसकर कृष्णा (22) की मौत हो गई। उसका शरीर बुरी तरह क्षत-विक्षत हो गया था। थ्रेसर खोलकर पुलिस की मौजूदगी में शरीर के टुकड़ों को बाहर निकाला गया। अपने सामने पुत्र को थ्रेसर में यूं कटते देख माता-पिता बेहोश हो गए। मौके पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई।

राठौली निवासी रामजी बिद के गेहूं की मड़ाई बुधवार की दोपहर गांव के सिवान में हो रही थी। इस दौरान बचे डंठल को लगाते समय कृष्णा का हाथ थ्रेसर की जद में आ गया। यह देख उसके माता-पिता हक्का-बक्का रह गए। ट्रैक्टर चालक भी जबतक कुछ समझता तेज रफ्तार थ्रेसर ने उसे खींच लिया। इसमें लगे बड़े-बड़े ब्लेड ने उसके शरीर को कई टुकड़ों में काट दिया। यह सबकुछ इतना जल्दी हुआ कि कोई चाहकर भी कुछ न कर सका। मौके पर अपने बेटे का सहयोग की रही मां शारदा व पिता रामजी बेहोश हो गए। चीख-पुकार सुनकर मौके पर लोगों की भीड़ लग गई। इस हृदय विदारक घटना को देखने तक की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे थे लोग। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। ---

बीए का छात्र था होनहार कृष्णा

बीए का छात्र कृष्णा बिद तीन भाई व दो बहनों में सबसे बड़ा व बेहद होनहार था। पिता मजदूरी करके अपने परिवार का भरण पोषण करते हैं। कृष्णा पढ़ाई के साथ ही अपने पिता का भी सहयोग करता था। इसकी मौत से घर-परिवार ही नहीं पूरे गांव में मातमी सन्नाटा पसरा रहा। हर कोई नियति को कोष रहा था। अधिकतर घरों में चूल्हे नहीं जले। माता-पिता व उसके भाई-बहन का रो-रोकर बुरा हाल है। स्वजनों का ढांढस बंधाने वालों के भी आंसू नहीं रुक रहे थे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021