मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जासं, गाजीपुर : कम समय में ज्यादा रुपये कमाने की लालच में छात्रसंघ अध्यक्ष संपूर्णानंद यादव को हेरोइन तस्कर बना दिया। हेरोइन के साथ बलिया में पकड़े जाने की खबर मिलते ही तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गईं। अब पुलिस आरोपित छात्रसंघ अध्यक्ष के साथियों के बारे में पता लगाना शुरू कर दी है जो उसके ज्यादा करीबी थे।

सुहवल थाना क्षेत्र के खजुहां गांव निवासी संपूर्णानंद यादव वर्तमान समय में शहर कोतवाली क्षेत्र के चंदन नगर कालोनी में मकान बनवाकर परिवार संग रहता है। पिछले साल हुए छात्रसंघ चुनाव में अध्यक्ष पद पर चुना गया। वर्तमान में वह पीजी कालेज का छात्रसंघ अध्यक्ष है। डिग्री कालेज का अध्यक्ष बनने के बाद के उसे खर्च बढ़ गए। घर से मिले रुपयों से जब शौक पूरा नहीं हो पा रहा था तो शहर कोतवाली क्षेत्र के भटौली गांव निवासी अपने साथी मनोज सिंह यादव से मिलकर हेरोइन तस्करी करने का मन बनाया। पुलिस के अनुसार एक-दो बार तस्करी में वे कामयाब भी हो गए, मगर ज्यादा दिनों तक पुलिस गिरफ्त से दूर नहीं रह सके। कोतवाल धनंजय मिश्र ने बताया कि साथी संग छात्रसंघ अध्यक्ष संपूर्णानंद यादव के बलिया में पकड़े जाने की खबर मिली है।

--- घरवाले सुबह कराए थे गुमशुदगी की रिपार्ट दर्ज

छात्रसंघ अध्यक्ष संपूर्णानंद यादव दो दिनों से घर से लापता था। दो दिनों तक मोबाइल से भी जब परिजनों संपर्क नहीं हुआ तो पिता शशिकांत यादव सोमवार की सुबह कोतवाली पहुंचे और गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराए। पुलिस अभी मामले की जांच कर ही रही थी कि बलिया के रसड़ा में छात्रसंघ अध्यक्ष के हेरोइन संग पकड़े जाने का पता चला।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप