जासं, गाजीपुर : मनिहारी ब्लाक के गौसपुर बुजुर्गा स्थित दक्षक पब्लिक स्कूल के संचालक ने सभी सीमाओं को लांघ दिया है। शासन का आदेश व बीएसए का निर्देश सब स्कूल संचालक के आगे बौने साबित हो रहे हैं। जागरण के समाचारीय अभियान का संज्ञान लेते हुए बीएसए स्वयं विद्यालय पहुंच गए और संचालक को कड़ी हिदायत दी थी कि दोबारा स्कूल खुला तो जेल भेज दूंगा। बावजूद इसके बिना डर भय के करीब सप्ताह भर से धड़ल्ले से विद्यालय चलाया जा रहा है। जांच अधिकारी बीइओ अविनाश कुमार राय ने कड़ी नाराजगी जाहिर की है। बताया कि स्कूल संचालक सभी सीमाएं लांघ चुका है। अब इसके खिलाफ एफआइआर दर्ज करने के साथ ही जुर्माना भी वसूल किया जाएगा।

गौसपुर बुजुर्गा स्थित दक्षक पब्लिक स्कूल के संचालक पहले बिना मान्यता के स्कूल चलाने लगा। इसमें करीब ढाई सौ बच्चे भी पढ़ने लगे। इस खबर को दैनिक जागरण ने प्रकाशित किया। इस पर तत्कालीन डीएम ने जांच बैठा दी। जांच अधिकारी बीइओ सुदामा ने विद्यालय को कोचिग दिखाते हुए मामले को रफा-दफा कर दिया। जांच रिपोर्ट पर दैनिक जागरण पूरे प्रमाण के साथ समाचारीय अभियान चलाया। इस पर बीएसए श्रवण कुमार ने विद्यालय को बंद कराने का निर्देश देते हुए बिरनो के बीइओ अविनाश कुमार राय जांच करने को कहा। फिर भी विद्यालय खुलेआम संचालित हो रहा था। इसकी खबर प्रकाशित होने पर बीएसए स्वयं विद्यालय पहुंच गए थे। ---

यूं ही नहीं छोड़ेंगे डीएम साहब विभाग को

- महकमे से जुड़े अधिकारी जो भी कहें लेकिन एक बात तो सच है कि बगैर उनके मिले ऐसी हिमाकत करने का कोई दुस्साहस नहीं कर सकता। जिस अवैध तरीके से विद्यालय संचालित हो रहा है उससे साफ है कि इसके पीछे कहानी बड़ी है। इसी के साथ सवाल और भी उठने लगे हैं कि कहीं डीएम के तबादले के बाद से संबंधित अधिकारी और स्कूल संचालक यह तो नही समझ बैठे हैं कि अब वह अपनी कर सकते हैं। बहरहाल, जिस तरीके से नवागत डीएम एक स्कूल पर पहुंचे थे और शिक्षक की भूमिका में नजर आए थे उससे साफ है कि शिक्षा विभाग को वह यूं ही खुली खेल के लिए नहीं छोड़ने वाले हैं।

यह तो अक्षम्य है। स्कूल संचालक ने हद कर दी है। अब सीधा एफआइआर दर्ज कराकर कड़ी कार्रवाई करने के साथ जुर्माना भी वसूल किया जाएगा।

- अविनाश कुमार राय, जांच अधिकारी/मनिहारी बीइओ।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप