जासं, गाजीपुर : बिरनो थाना क्षेत्र के पारा प्राथमिक विद्यालय पर फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाने का मामला रविवार को प्रकाश में आया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने महिला समेत तीन लोगों को धर-दबोचा। आयुष्मान योजना के जिला प्रोग्राम कोआर्डिनेटर की तहरीर पर पुलिस मुकदमा दर्ज कर पूछताछ में जुटी हुई है।

जिला प्रोग्राम कोआर्डिनेटर डा. जितेंद्र दुबे ने बताया कि ग्रामसभावार गोल्डेन कार्ड बनाने के लिए जनसेवा केंद्र को नामित किया गया है। पारा गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय पर एक महिला समेत तीन लोग प्रति व्यक्ति 200 रुपये के दर से फर्जी आयुष्मान कार्ड बना रहे थे। ग्रामीणों द्वारा जब इसकी जानकारी नामित जनसेवा केंद्र संचालक को दी गई तो वह मौके पर पहुंचकर पूरे मामले की जानकारी दिए। फर्जीवाड़े की सूचना मिलते ही विभागीय टीम भी मौके पर पहुंच गई व इसकी सूचना बिरनो पुलिस को दी गई। छानबीन के दौरान पता चला कि ग्रामीणों ने पैसा लेकर उनका फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाकर दिया जा रहा है। मौके से मोबाइल, कार्ड, नगदी व अन्य सामान भी बरामद हुए है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की ओर से गोल्डेन कार्ड जेनरेट करने के लिए पूरे ब्लाक पर लाभार्थियों की सूची है। साथ ही गोल्डेन कार्ड जनरेट करने के लिए जनसेवा केंद्रों को नामित किया गया है। चेताया कि फर्जीवाड़ा करने वाले ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप