जासं, गाजीपुर : सुहेलदेव एक्सप्रेस में आरक्षण के बाद भी अतिरिक्त स्लीपर कोच नहीं लगाए जाने के कारण मंगलवार को सिटी स्टेशन पर यात्रियों ने हंगामा कर दिया। काफी मशक्कत के बाद रेल अधिकारियों ने अगले स्टेशन पर दूसरा कोच लगाने के आश्वासन पर उनका गुस्सा शांत हुआ। अधिकतर यात्रियों ने अन्य बोगियों में बैठ कर अपनी यात्रा शुरू की जबकि कुछ ने अपनी यात्रा रद कर दी।

सिटी रेलवे स्टेशन से आनंद विहार (दिल्ली) को जाने के लिए सुहेलदेव एक्सप्रेस प्लेटफार्म पर लगी। ट्रेन लगते ही यात्री अपने टिकट के मुताबिक अतिरिक्त स्लीपर कोच तलाशने लगे। संबंधित कोच नहीं मिलने पर उन्होंने स्टेशन के अधिकारियों से बात की लेकिन उचित जवाब नहीं मिलने पर उन्होंने हंगामा करना शुरू कर दिया। यात्रियों का गुस्सा देख उन्होंने ऊपर के अधिकारियों से चर्चा कर आगे के स्टेशन पर अतिरिक्त कोच लगवाने का आश्वासन दिया। रेल अधिकारियों के इस आश्वासन पर यात्रियों का गुस्सा शांत हुआ। इस अफरा-तफरी में सुहेलदेव अपने निर्धारित समय से पंद्रह मिनट देरी से रवाना हुई। सबसे अधिक परेशानी उनको हुई जो अपने परिवार के साथ यात्रा करने के लिए आए थे। इससे पूर्व भी इस ट्रेन में कई बार इस तरह की गलतियां हुई है जिसका खामियाजा यात्रियों को भुगतना पड़ा।

---------- दोषी कर्मचारी को किया तलब

:: वाराणसी मंडल के जनसंपर्क अधिकारी महेश गुप्ता ने बताया कि संबंधित आरक्षण कर्मचारी से गलती हुई है। उनको वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक कार्यालय में तलब किया गया है। मामले की जांच करने के बाद संबंधित कर्मचारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। साथ ही अगर इलाहाबाद में अतिरिक्त कोच उपलब्ध हुए तो ट्रेन में कोच लगा दिया जाएगा। बताया कि संबंधित कर्मचारी ने गलती से चार्ट बनाते समय अतिरिक्त कोच कंप्यूटर में फीड कर दिया जिससे जो वेटिग टिकट थे सभी कंफर्म हो गए जिसके चलते यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021