जासं, गाजीपुर : नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में प्रेम, भाईचारा व बंधुत्व का पर्व ईद-उल-फित्र बुधवार को हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। मुस्लिम बंधुओं ने ईद की नमाज अदा कर एक-दूसरे से गले मिलकर बधाइयां दी। नमाज के दौरान मुल्क की तरक्की व अमन चैन के लिए दुआएं मांगी गई। ईदगाह के बाहर सामाजिक, राजनीतिक एवं प्रशासनिक अधिकारियों ने नमाज पढ़कर बाहर निकलने वालों को ईद की मुबारकबाद दी। इस मौके पर ईदगाहों पर मेले सा माहौल रहा। बच्चों ने खिलौने खरीदे और पर्व की खुशियां मनाईं। इसके बाद लोगों ने एक-दूसरे के घरों को जाकर सेवई के अलावा अन्य पकवान का आनंद उठाया।

सुबह से ही मुस्लिमों ने स्नान के बाद नए कपड़े पहनकर ईद की नमाज की तैयारी शुरू कर दी। सुबह सात बजे से शुरू हुआ नमाज पढ़ने का सिलसिला सुबह दस बजे तक चलता रहा। नगर के विशेशरगंज स्थित ईदगाह पर नमाज सुबह दस बजे अदा हुई। नमाज के बाद मस्जिद के बाहर बधाई देने वालों का तांता लग गया। इस दौरान जाति एवं मजहब के बंधन टूट गए। सभी ने एक-दूसरे को पर्व की मुबारकबाद दी। युवा सेल्फी लेकर पर्व को यादगार बनाते रहे। सबसे अधिक खुश बच्चे दिख रहे थे उनकी खिलखिलाहट देखते ही बन रही थी। मुस्लिम बाहुल्य मोहल्लों में पूरे दिन चहल-पहल दिखी। जंगीपुर : ईद के मौके पर विभिन्न मस्जिदों में नमाज के बाद लोगों ने बधाई दी। टाउनएरिया की इमामबाड़ा मस्जिद सहित तमाम मस्जिदों में नमाज हुई। इसके बाद पूरे दिन मिलने का सिलसिला चलता रहा।

-

सांसद ने दी ईद की मुबारकबाद

मुहम्मदाबाद : सुबह साढ़े सात बजे नगर स्थित ईदगाह में ईद की नमाज अदा की गई। इस दौरान यूसुफपुर जामा मस्जिद में सुबह सात बजे ईद की नमाज के पश्चात एक दूसरे से गले मिल लोगों ने ईद की बधाई दी। नमाज संपन्न होने पर सांसद अफजाल अंसारी ने एक दूसरे को गले लगाकर ईद की मुबारकवाद दी। भांवरकोल : फखनपुरा, रानीपुर, महेशपुर, मच्छटी, वीरपुर, घरजूड़ी, मीजरबाद, सोनाड़ी, अवथहीं, मुड़ेरा, बुजुर्ग सुखडेहरा, महेंद आदि गांवों के मुस्लिम भाइयों ने ईद की नमाज अदा की। करीमुद्दीनपुर : क्षेत्र के ताजपुर, करीमुद्दीनपुर, बथोर, बाराचवर में ईद की नमाज सकुशल संपन्न हुई। दुबिहा : उतरांव कामूपुर आदि गांवों में एक दूसरे के गले मिलकर मुस्लिम बंधुओं ने मुबारकवाद दी।

-

एक दूसरे से बांटी खुशियां

-सैदपुर : नगर स्थित ईदगाह पर नमाज के बाद लोगों ने एक दूसरे में खुशियां बांटी। इस मौके पर विधायत प्रतिनिधि आशु दुबे, चैयरमैन प्रतिनिधि शशि सोनकर, पूर्व चैयरमेन राजेंद्र प्रसाद यादव, एसडीएम वेद प्रकाश मिश्र, सीओ अरविद सिंह आदि थे। सादात : ईद के मौके पर बच्चों व महिलाओं में विशेष उत्साह देखने को मिला। लोगों ने सेवईयों वगैरह का सेवन किया। नंदगंज : पश्चिमी रेलवे क्रासिग स्थित मस्जिद तथा श्रीगंज व बरहपुर की मस्जिदों में नमाज अदाकर निकले लोगोंने एक दूसरे के गले मिलकर ईद की बधाई दी।

-

डीएम-एसपी ने भी ईद की बधाई

-नगर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में ईदगाहों के बाहर प्रासनिक अधिकारियों ने नमाज पढ़ कर बाहर निकल रहे लोगों को गले लगा कर ईद की बधाइयां दीं। इस दौरान सदर स्थित ईदगाह के बाहर मौजूद जिलाधिकारी के बालाजी और पुलिस अधीक्षक डा.अरविद चतुर्वेदी सहित अन्य प्रशासिक अधिकारियों ने मुस्लिम बंधुओं को मुबारकबाद दी। जिलाधिकारी ने लोगों को गले लगाया और उनकी खुशियों में शरीक हुए।

-

हमेशा करें जरूरतमंदों की मदद

शादियाबाद : मौलाना अमिरउद्दीन मिस्बाही ने कहा कि जिस तरह की परहेजगारी हम रमजान के महीने में करते हैं वैसी जिन्दगी हमें हमेशा जीना चाहिए। हमे साल के बाकी महीनों में भी जरूरतमंद की मदद करनी चाहिए। लोगों की भूख प्यास का अहसास करना चाहिए। नेक काम में खर्च करने से दौलत कम नहीं होती बल्कि बढ़ती जाती है। उसमें अल्लाह बेपनाह बरकत देता है। इंसान की दौलत भी उस कुएं के पानी के मानिन्द है, जिस कुएं का पानी जितना ज्यादा निकाला जाता है वह कुआं उतना ही भरा रहता है। उसका पानी मीठा और पाक रहता है जिस कुएं का इस्तेमाल नहीं होता व जो कुआं लोगो की प्यास नहीं बुझा सकता वह सूख जाता है। इसी तरह दौलत होती है, जो दौलत गरीब जरुरतमंदों के काम न आए वह खत्म हो जाती है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस