जागरण संवाददाता, गाजीपुर : जिले में नए आरोग्य केंद्रों को स्थापित करने की कवायद तेज कर दी गई है। वित्तीय वर्ष 2019-20 में चयनित 15 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में परिवर्तित करने के लिए शासन की ओर से धनराशि का आवंटन कर दिया गया है। अत्याधुनिक चिकित्सकीय सुविधाओं व जांच केंद्र से लैस होने से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को दिक्कत का सामना नहीं करना पड़ेगा।

ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों को बेहतर चिकित्सकीय सुविधा प्रदान करने के लिए शासन की ओर सप्ताह के प्रत्येक रविवार को 64 आरोग्य केंद्रों पर आरोग्य मेले का आयोजन किया जा रहा है, जिससे बड़ी संख्या में लोग लाभांवित हो रहे हैं, जबकि जांच की व्यवस्था न होने से स्वास्थ्य कर्मियों को दिक्कत उठानी पड़ती है। ऐसे में चयनित 15 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में तब्दील होने व जांच की बेहतर व्यवस्था के लिए लैब स्थापित होने से मरीजों को दिक्कत नहीं उठानी पड़ेगी। इन केंद्रों पर जहां उनका चिकित्सकीय उपचार होगा, वहीं जांच भी आसानी से हो सकेगी। इसके अलावा वहां तैनात स्वास्थ्य कर्मियों को बेहतर कार्य के लिए इंसेटिव भी प्रदान किया जाएगा। साथ ही पोर्टल पर रिपोर्ट भेजने के लिए कम्प्यूटर व इंटरनेट की भी सुविधा उपलब्ध होगी, जिससे वहां तैनात स्वास्थ्य कर्मियों को दिक्कत न उठानी पड़े। इस संबंध में एसीएमओ डा. केके वर्मा ने बताया कि चयनित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में तब्दील करने का कार्य तेजी से चल रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस