मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जासं, गाजीपुर : प्रमुख सचिव के निर्देश पर प्रभारी जिलाधिकारी व सीडीओ हरिकेश चौरसिया ने सोमवार को अपने कार्यालय में दिव्यांग जनों से वार्ता की। उनकी समस्याएं सुनी और शीघ्र ही निस्तारण करने का आश्वासन दिया। दिव्यांगजन प्रदेश संगठन के बैनर तले आठ जिलों के दिव्यांग प्रमुख सचिव से मिले थे और अपने लोगों के लिए प्रधानमंत्री आवास, शौचालय, राशनकार्ड, आयुष्मान भारत व सहायक उपकरण आदि का लाभ देने की मांग की।

इस क्रम में प्रमुख सचिव ने जिलाधिकारी को निर्देशित किया था कि वह उक्त दिव्यांजनों की समस्या सुलझाए। संगठन से जुड़े सादात क्षेत्र के दो दर्जन से अधिक दिव्यांग विकास भवन पहुंचे और प्रभारी डीएम से मिल अपनी जरुरतें व समस्याएं गिनाईं। दिव्यांगों ने बताया कि पात्र होते हुए भी उन्हें आवास नहीं मिल रहा है जिससे वह झोपड़ी में गुजर-बसर करने को विवश हैं। पात्र गृहस्थी का लाभ भी उन्हें नहीं मिल पा रहा है और न ही पेंशन मिल रही है। कुछ ऐसे दिव्यांग हैं जिन्हें सहायक उपकरण की जरुरत है लेकिन न मिलने से काफी परेशानी उठानी पड़ती है। पिछड़ा वर्ग एवं दिव्यांगजन कल्याण अधिकारी नरेंद्र विश्वकर्मा ने उनका प्रार्थना पत्र लेकर सूचीबद्ध किया। प्रभारी डीएम ने कहा कि संगठन से जुड़े जितने भी दिव्यांगजन हैं वह अपनी सूची व पात्रता को एक प्रार्थना पत्र के माध्यम से उपलब्ध करा दें। जो जिस योजना का पात्र होगा, उसे उसका लाभ दिया जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप