जागरण संवाददाता, गाजीपुर : बेवफाई पर प्रेमी ने प्रेमिका चंदना का कत्ल कर दिया था। शादी से इन्कार व प्राय: देर तक नंबर व्यस्त रहने पर उसने वारदात का अंजाम दिया इसका खुलासा पुलिस ने मंगलवार की दोपहर में किया। पुलिस गिरफ्त में आने के बाद पूछताछ में आरोपी प्रेमी ने अपना जुर्म कबूल लिया। एसपी सोमेन बर्मा ने उसे मीडिया के सामने पेश किया। जहां से उसे जेल भेज दिया गया। प्रेमी मऊ जनपद के मुहम्मदाबाद गोहना थाना क्षेत्र के उम्मनपुर गांव का निवासी है।

एसपी सोमेन बर्मा ने बताया कि चंदना के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए क्राइम ब्रांच की टीम के अलावा बहरियाबाद पुलिस को भी लगाया गया था। सोमवार की रात क्राइम ब्रांच की टीम अपराधियों की तलाश में क्षेत्र में भ्रमणशील थी। उसी दौरान उनकी मुलाकात रायपुर चट्टी पर वाहनों की चे¨कग करते थानाध्यक्ष शमीम अली सिद्दीकी से हो गई। वे आपस में बात कर रहे थे कि इसी दौरान मुखबिर से सूचना मिली कि चंदना हत्याकांड का आरोपी अपने फुफा के गांव चकरस्तही से होकर पैदल ही जा रहा है। सूचना के बाद पुलिस टीम वहां पहुंची और उसे पकड़कर थाने लाई। शुरू में वह पुलिस को गुमराह करना चाहा लेकिन कड़ाई से पूछताछ में अपना जुर्म कबूल लिया। हत्यारोपी को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को एसपी ने दस हजार रुपये नकद पुरस्कार देने की घोषणा की। वर्ष 2015 में हुआ प्यार 2018 में हो गया अंत

मऊ जनपद के मुहम्मदाबाद गोहना थाना क्षेत्र के उम्मनपुर गांव निवासी विवेक चौहान का बहरियाबाद थाना क्षेत्र बघांव गांव के बगल में ननिहाल है। वर्ष 2015 में विवेक के नाना के घर गृह प्रवेश था। वहां चंदना भी आई थी। पहली मुलाकात में ही दोनों की आंखें चार हो गई। इसके बाद विवेक का नाना के घर आना-जाना बढ़ गया। गाहे-बगाहे दोनों गांव के बाहर सीवान में भी मिलना शुरू किए। विवेक ने चंदना को मोबाइल भी खरीदकर दिया ताकि उससे बात कर सके। कुछ दिन बाद जब चंदना का मोबाइल देर तक व्यस्त रहने लगा तो उसे आशंका हुई कि चंदना का किसी दूसरे से प्रेम चल रहा है। बात की पुष्टि के लिए उसने उसे मिलने के बहाने 16 मार्च को गेहूं की खेत में बुलाया। यहां उसने दोबारा शादी का प्रस्ताव रखा तो उसने इन्कार कर दिया। इस पर विवेक न चाकू निकालकर उसके पेट पर वार कर दिया। वह लहूलुहान होकर गिरी तो गर्दन पर वार कर मौत की नींद सुला दिया। जब उसकी मौत हो गई तो उसका कपड़ा निकालकर गुप्तांग कर प्रहार करने के बाद गड्ढा खोदकर जमीन में सलवार छिपाकर भाग निकला। इस तरह वर्ष 2015 में शुरू हुए प्यार का 2018 में अंत हो गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस