जागरण संवाददाता, ज्ञानपुर (भदोही) : झांसी में पुष्पेंद्र यादव की गोली मारकर की गई हत्या, उन्नाव में पुलिस हिरासत में बृजपाल मौर्य की हुई मौत की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई सहित विभिन्न मांगों को लेकर भारतीय कम्युनिष्ट पार्टी कार्यकर्ताओं ने बुधवार को कलेक्ट्रेट पहुंचकर प्रदर्शन किया। जिलाधिकारी को प्रधानमंत्री के नाम संबोधित पत्रक सौंपा।

वामपंथी दलों के केंद्रीय आह्वान पर प्रस्तावित प्रदर्शन कार्यक्रम के तहत कलेक्ट्रेट पहुंचे कार्यकर्ताओं ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था मंदी के दौर से चल रही है। इसके बाद भी उद्योग पतियों को लाभ पहुंचाने का काम हो रहा है। पूंजीपतियों को छूट दिया जा रहा है। वक्ताओं ने रिजर्व बैंक से आहरित एक लाख 76 हजार करोड़ रुपये घरेलू मांग और नौकरियां बढ़ाने में लगाने की मांग की। जिससे युवाओं को रोजगार हासिल हो सके। आउट सोर्सिंग समाप्त कर पूर्णकालिक मजदूर रखे जाने, बीएसएनएल, आयुध कारखानों, रेल, एयर इंडिया, जीवन बीमा निगम आदि का निजीकरण न करने, मनरेगा में धनावंटन बढ़ाने व मजदूरों को 200 दिन काम की गारंटी देने की मांग की। साथ ही पुष्पेंद्र यादव की गोली मारकर की गई हत्या, उन्नाव में पुलिस हिरासत में बृजपाल मौर्य की हुई मौत के मामलों की उच्चस्तरीय जांच कराकर कार्रवाई की मांग की। प्रदर्शन में जगन्नाथ मौर्य, इंद्रदेव पाल, रमापति यादव, कैलाशनाथ बिद, मुरलीधर पाल, प्रेम बहादुर सहित बनारसी सोनकर, कबूतरा देवी, धर्मराज गौतम राजनाथ आदि थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप