जासं, गाजीपुर : बच्चों के कोरोना पॉजिटिव मिलने पर उन्हें उपचार के लिए वाराणसी के पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय अस्पताल में भर्ती कराया जाएगा। साथ ही गर्भवती महिलाओं व वृद्ध व्यक्तियों को भी इसमें शामिल किया गया है, जिससे किसी भी विकट परिस्थिति से निपटा जा सके। ऐसे कोरोना संक्रमितों को बेहतर चिकित्सकीय सुविधा प्रदान करने के लिए शासन के निर्देश पर स्वास्थ्य विभाग की ओर से विशेष सतर्कता बरती जा रही है।

कोरोना संक्रमितों की लगातार बढ़ रही संख्या को देखते हुए जिले में दो कोविड लेवल वन अस्पताल स्थापित करने के साथ आइसोलेशन वार्ड की संख्या भी बढ़ाई जा रही है। उपचार के लिए प्रशिक्षित चिकित्सकों व स्वास्थ्य कर्मियों को इस कार्य में लगाने के साथ अत्याधुनिक चिकित्सकीय सुविधाओं से भी लैस किया जा रहा है। इसके बावजूद बच्चों को उपचार के लिए वाराणसी स्थित राजकीय अस्पताल रेफर किया जा रहा है। इसमें दो वर्ष से पांच वर्ष तक के बच्चे शामिल हैं। अब तक जनपद में दो मासूम कोरोना संक्रमित मिले हैं, जिनका उपचार पंडित दीनदयाल उपाध्याय राजकीय अस्पताल में चल रहा है। वहीं गर्भवती महिलाओं व वृद्ध व्यक्तियों के कोरोना संक्रमित मिलने पर उन्हें भी वाराणसी ले जाएगा। हालांकि वर्तमान समय गर्भवती महिला व वृद्ध कोरोना पॉजिटिव नहीं मिले हैं।

-

कोरोना संक्रमित बच्चों, गर्भवती महिलाओं व वृद्ध व्यक्तियों को उपचार के लिए वाराणसी रेफर किया जाएगा, जिससे उनके गंभीर होने पर बेहतर उपचार मिल सके। वर्तमान समय में दो कोरोना पॉजिटिव वाराणसी के पंडित दीनदयाल राजकीय अस्पताल में भर्ती है। इनके हालत में लगातार सुधार हो रहा है।

-डा. जीसी मौर्या, सीएमओ ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस