जासं, जमानियां (गाजीपुर) : बरुइन गांव स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर 24 घंटे चिकित्सीय सेवा शुरू कराने के अलावा अन्य मांगों को लेकर बुधवार को अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा युवा के सदस्य और ग्रामीणों ने केंद्र पर तालाबंदी कर धरना-प्रदर्शन किया। उपजिलाधिकारी सत्यप्रीत सिंह व कोतवाल विमल मिश्रा पहुंचे और ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किए, लेकिन वे नहीं माने। दोपहर तीन बजे धरना स्थल पर पहुंचे डिप्टी सीएमओ पीके कुशवाहा ने रात्रिकालीन सेवा और महिला चिकित्सक की तैनाती सहित नौ सूत्रीय मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया। इसके बाद दोपहर 3.30 बजे अस्पताल का ताला खुला।

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा युवा के तहसील प्रभारी अमरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि पूर्व में कई बार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र की दु‌र्व्यवस्था को लेकर रास्ता जाम और धरना-प्रदर्शन कर विभागीय उच्चाधिकारियों से लगायत तहसील प्रशासन को मांग पत्र सौंपा गया लेकिन किसी ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। केंद्र पर चिकित्सकों के अभाव में मरीजों की संख्या कम होने लगी है। साथ ही इस केंद्र का कार्यालय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चल रहा है। अस्पताल में 24 घंटे इमरजेंसी सेवा, महिला प्रसव केंद्र तथा आपरेशन थिएटर को सुचारू रूप से चालू नहीं किया गया। जीवन रक्षक दवाओं का अभाव है। एक्सरे, पैथोलॉजी, अल्ट्रासाउंड की कोई व्यवस्था नहीं है। पूर्व में चल रहे पीएम हाउस को नियमानुसार शुरू किया जाए। अन्य पीएचसी पर अटैच किए गए सीएचसी कर्मचारियों को पुन: यहां तैनात किया जाए।डाक्टरों के अभाव से क्षेत्र में नीम हकीमों की भरमार हो गई है। जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह, पूर्व ब्लाक प्रमुख बलवंत सिंह, केडी सिंह, राजेंद्र सिंह, गोरखनाथ सिंह, संजय सिंह, बबलू दुबे, सत्यप्रकाश सिंह ,अनिल सिंह, केशरी सिंह, प्रिस सिंह, रणवीर सिंह आदि थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप