जासं, जमानियां (गाजीपुर) : आशा संघ की अध्यक्ष सरोज मौर्या से आशा पति द्वारा मीटिग में दु‌र्व्यवहार करने पर गुरुवार को मामला तूल पकड़ लिया। इसे लेकर आशा बहू एवं संगिनी प्रभारी के कार्यालय पहुंचकर हो हल्ला करने लगीं। कुछ देर बाद पुलिस भी पहुंच गई। पुलिस कर्मियों ने आशा बहुओं को समझा बुझाकर मामला शांत कराया।

कस्बा बाजार स्थित पीएचसी परिसर में दोपहर एक बजे आशा संगनी एवं आशा बहू को फाइलेरिया की ट्रेनिग दी जा रही थी। इसी बीच रजिस्टर पर हस्ताक्षर करने को लेकर आशाओं में विवाद हो गया। आशा संघ की अध्यक्ष सरोज मौर्या का आरोप है कि आशा सत्या त्रिपाठी के पति राजेंद्र त्रिपाठी ने उनके साथ दु‌र्व्यवहार किया। इसको लेकर आशा बहू भड़क गईं। ट्रेनिग दे रहे एकलाख अहमद ने समझाने का प्रयास किया लेकिन आशा बहू व संगिनी नहीं मानीं। मीटिग छोड़कर आशा पति को मारने के लिए दौड़ा लिया। इसके बाद आशा पति प्रभारी के कार्यालय में पहुंच गए। आशाएं वहां पहुंचकर हो हल्ला करने लगीं। महिला आरक्षियों को लेकर पहुंचे उप निरीक्षक अनिल पाण्डेय ने आशा संघ की अध्यक्ष सरोज मौर्या से वार्ता की। उसने बताया कि आशा पति द्वारा आए दिन हम सभी के साथ दु‌र्व्यवहार किया जाता है। इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। आज भी मीटिग में गाली गलौज किया गया। कार्यालय में बैठे आशा पति से जब पूछा गया तो बताया कि हम अपनी पत्नी को गाली दिए। अस्पताल पहुंचे कोतवाल विमल मिश्रा ने आशा पति को हिदायत दी। केंद्र के प्रभारी चिकित्साधिकारी डा. रुद्रकांत सिंह ने बताया कि दोनों लोगों से इस मामले में स्पष्टीकरण मांगा गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप