जासं, गाजीपुर : नंदगंज थाना क्षेत्र के सिरगिथा गांव के समीप नौ फरवरी की रात शादियाबाद थाने के कुकढ़ा गांव निवासी सगे भाइयों की हत्या का पुलिस ने पर्दाफाश कर दिया। सिरगिथा गांव निवासी कन्हैया उर्फ खुल्ली ने बसपा सेक्टर प्रभारी विजय को पुरानी रंजिश और पुन: मुकदमे में फंसाने की धमकी पर मौत के घाट अपने दो अन्य साथियों के साथ उतारा, जबकि प्रदुम्न को हत्यारों से भिड़ने की वजह से अपनी जान गंवानी पड़ी थी। शनिवार को एसपी डा. ओमप्रकाश सिंह ने पत्रकार वार्ता के दौरान दोहरे हत्याकांड का पर्दाफाश कर दिया। तीनों आरोपितों को गिरफ्तार करने के साथ ही पुलिस ने उनके पास से पिस्टल, मोबाइल व हत्या में प्रयुक्त बाइक भी बरामद कर ली।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बीते नौ फरवरी की देर रात नंदगंज थाना क्षेत्र के सिरगिथा गांव के पास दो सगे भाई बसपा सेक्टर प्रभारी विजय व प्रद्युम्न की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए भुड़कुड़ा सीओ के नेतृत्व में टीम गठित की गई थी। टीम ने मुखबीर की सूचना पर पुराना कबाड़ी बाजार से सिरगिथा गांव निवासी हत्यारोपित कन्हैया उर्फ खुल्ली, पीयूष बिद व अश्वनी को धर-दबोचा। पूछताछ में आरोपित कन्हैया ने बताया कि बीते वर्ष अंबेडकर जयंती में नाच को लेकर मृतक विजय से मारपीट हुई थी। इसी खुन्नस में उसकी गुमटी जला दी थी। इस मामले में पंचायत द्वारा पांच हजार की जगह 65 हजार रुपये दिलवाया गया। इसके बाद पुन: मृतक विजय द्वारा किसी अन्य मुकदमे में फंसाने की धमकी देनी शुरू कर दी गई थी। इससे नाराज व बदला लेने के लिए अश्वनी व पीयूष को साथ मिलाया। विजय व उसका भाई प्रद्युम्न दुकान बंदकर घर के लिए चले तो इसकी जानकारी अश्वनी द्वारा फोन से दी गई थी। इसके बाद विजय पर गोली चलाई गई तब-तक छोटा भाई उनसे भिड़ गया। इस पर उसके भी सीने व हाथ में गोली उतार दी गई थी। उसने कबूल किया कि एक माह से हत्या की फिराक में था। एसपी ने पर्दाफाश करने वाली टीम को 25 हजार रुपये पुरस्कार देने की घोषणा की। गिरफ्तार करने में शामिल नंदगंज थानाध्यक्ष विनीत राय, संजय मिश्रा, अजय गुप्ता, विपिन कुमार, रामजीत यादव रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस