जासं, मलसा (गाजीपुर) : एनएच-24 (97) पर जमानियां से लेकर मेदनीपुर तक टूटी सड़क की मरम्मत का कार्य शुरू हो गया है। कई जगहों पर गड्ढों को पाट दिया गया है। इस कार्य में तेजी दिखाई जा रही है। शनिवार को दिन भर टूटी सड़क की मरम्मत होती रही। इस मार्ग को 52 करोड़ की लागत से बनाया गया था।

दैनिक जागरण ने विगत 29 मार्च को 'साल भर में ही टूट गई 52 करोड़ की सड़क' शीर्षक से सचित्र खबर प्रकाशित की। इसके बाद विभागीय अधिकारियों की नींद खुली और शुक्रवार को टूटी सड़क की मरम्मत का काम शुरू हो गया। लंबे समय से जर्जर उक्त सड़क के निर्माण की प्रक्रिया करीब एक वर्ष पूर्व एनएचआइ की ओर से 52 करोड़ की लागत से शुरू की गई थी। वर्ष भर के अंदर ही सब्बलपुर खुर्द, देवरियां, ताड़ीघाट सहित अन्य जगहों पर मार्ग टूट कर क्षतिग्रस्त हो गया। वाहन चालकों को परेशानी हो रही थी। खासकर पटरी निर्माण नहीं होने से पैदल चलने वाले लोगों को दुर्घटना की आशंका रहती थी। दैनिक जागरण में खबर प्रकाशित होने से बाद अधिकारी तेजी से टूटी सड़क की मरम्मत करा रहे हैं। अशोक गुप्ता, श्रवण राम आदि ने पटरी का निर्माण कराने की मांग की है। कहा कि अगर इसका निर्माण हो जाए तो आवागमन में सहूलियत होगी।

Posted By: Jagran