जासं, गाजीपुर : जामनगर (गुजरात) से चली स्पेशल (श्रमिक) ट्रेन मंगलवार की रात करीब आठ बजे 1968 श्रमिकों को लेकर सिटी रेलवे स्टेशन पहुंची। आने वालों से उनके टिकट के दाम 725 रुपये जामनगर स्टेशन पर ही वसूल लिए गए। ट्रेन में जिले के 149 एवं अन्य जिलों के 1819 श्रमिक आए थे। ट्रेन से आए मजदूरों को थर्मल स्कैनिग के बाद रोडवेज की बसों से गंतव्य के लिए रवाना कर दिया गया। वहीं जिले के कामगारों का ब्योरा नोट कर उनके घरों को भेज कर कर क्वारंटाइन कर दिया गया। श्रमिकों के मुताबिक उनको रास्ते में भोजन एवं नाश्ता वगैरह दिया गया। इस दौरान कामगारों ने उनसे टिकट का दाम लिए जाने पर आक्रोश जताया।

------- - जामनगर से आई स्पेशल ट्रेन से कुल 1968 श्रमिक आए थे जिसमें अन्य जिलों के कुल 1819 एवं जिले के कुल 149 कामगार थे। बाहरी श्रमिकों को रोडवेज की बसों से भेज दिया गया। वहीं जिले के कामगारों को उनके घरों को भेज कर उनको होम क्वारंटाइन कर दिया गया।

- सुशील श्रीवास्तव, सीआरओ।

------------ लोग बोले ...

- यात्रा शुरू करने से पहले ही उनसे टिकट के दाम 725 रुपये ले लिए गए। सरकार को टिकट का दाम नहीं लेना चाहिए था। ऐसे समय में टिकट खरीदना उनको काफी भारी पड़ा।- शिशुपाल सिंह, जालौन।

-------

मजबूरी में उनको वहां से आना पड़ा। खाने-पीने की काफी समस्या हो रही थी। अभी तो जाने के बारे में नहीं सोचा है। लॉकडाउन खत्म होने के बाद दोबारा जाने के लिए सोचा जाएगा। - रंजन विश्वकर्मा, जालौन।

-----------

रास्ते में उनको नाश्ते एवं भोजन की पूरी व्यवस्था थी। उनको जामनगर, अजमेर, कानपुर और गाजीपुर में खाने एवं नाश्ते का सामान दिया। पानी के लिए काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।- अवधेश राठौर, जालौन।

-----------

लॉकडाउन के चलते उनका काम बंद हो गया था। बेगारी के अलावा उनके पास कुछ भी नहीं था। अब संकट समाप्त होने के बाद ही दोबारा वहां जाने के बारे में सोचा जाएगा। - शिवकुमार, जखनियां ।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021