जासं, गाजीपुर : सुहेलदेव व बांद्रा एक्सप्रेस ट्रेनों के बलिया से चलाए जाने के विरोध में विवेक कुमार सिंह 'शम्मी' के नेतृत्व में रविवार को नगर के मिश्र बाजार तथा लंका पर  हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। इसमें गांवों से आने वाले जनपदवासियों ने बस स्टैंड पर अभियान में बढ़-चढ़कर हिस्सेदारी की। आज चौथे दिन हस्ताक्षर अभियान समाप्त होने तक करीब 6700  लोगों ने हस्ताक्षर करके सुहेलदेव एवं बांद्रा एक्सप्रेस ट्रेनों के  गाजीपुर से चलते रहने देने का समर्थन किया।

ग्रामीण क्षेत्र से आए लोगों ने बताया कि गांवों से जो किसान शहर में ट्रेन पकड़ने आते हैं उनके पास रिजर्वेशन नहीं होता है और वे जनरल डिब्बों में यात्रा करते हैं। परन्तु जब ट्रेनों का संचालन बलिया से होगा तो वे डिब्बे पहले से बलिया और बिहार से सटे क्षेत्रों के यात्रियों से भरे होंगे। चुन्नू ने बताया कि गाजीपुर पहले से ही प्रदेश के पिछड़े जिलों में शुमार है और अब ट्रेनें भी बलिया से चलने लगेंगी तो इस जिले का और बुरा हाल होगा। रमेश चन्द्र अग्रहरी ने कहा कि आजादी के बाद पहली बार गाजीपुर शहर को ट्रेनों की सौगात मिली थी, उसको राजनीति के चलते बलिया से चलाने का जो प्रस्ताव बलिया के सांसद विरेंद्र सिंह मस्त द्वारा दिया जा रहा है वह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है। सभासद सोमेश राय ने कहा कि सबसे पहले तो जिले के भाजपा जनप्रतिनिधियों को इसके खिलाफ आवाज उठानी चाहिए, लेकिन सब शांत हैं। संजय अग्रहरि, कल्लू गुप्ता, अंसार अहमद, राकेश गुप्ता, जय सिंह, आलोक पांडेय, बृजेश राय, सूरज सिंह, प्रदीप बिद आदि थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप