सैदपुर (गाजीपुर) : एनएच-29 पर स्थानीय नगर में जाम का झाम इस कदर है कि एक कदम भी आगे बढ़ पाना मुश्किल हो जाता है। सोमवार को नगर स्थित रेलवे क्रा¨सग का फाटक टूटने से करीब पांच घंटे तक नगर जाम से जूझता रहा। लोग जनप्रतिनिधियों व विभागीय अधिकारियों को कोसने में कोई परहेज नहीं कर रहे थे।

एनएच-29 पर नगर में तहसील मुख्यालय के सामने ही रेलवे क्रा¨सग हैं। वाराणसी-छपरा मार्ग का यह रेलवे क्रा¨सग दिन में 20 से अधिक बार बंद होता व खुलता है। एक बार क्रा¨सग बंद होने पर करीब 15 मिनट तक जाम लग जाता है। इस हिसाब से 24 घंटे में करीब पांच घंटे तक नगर में जाम की स्थिति बनी रहती है। कोई ट्रक या बस खराब हो जाए या रेलवे फाटक टूट जाए तो जाम घंटों लगा रहता है। दोपहर में अज्ञात वाहन के धक्के से गेट टूटने से जाम के चलते कई एंबुलेंस व स्कूल वाहन जाम में फंसे रहे। उमस भरी गर्मी में बच्चे परेशान थे। एंबुलेंस में मौजूद मरीज दर्द से कराह रहे थे। लोग चाहकर भी कुछ कर नहीं पा रहे थे। ट्रेनों को पास कराने के लिए गेट पर तैनात कर्मचारी लोहे की जंजीर लगा रहे थे। युवा व्यापार मंडल के अध्यक्ष पंकज अग्रवाल ने बताया कि रेल राज्यमंत्री को नगर में रेलवे क्रा¨सग पर ओवर ब्रिज बनाने के लिए करीब छह माह पहले पत्र सौंपा गया था। उन्होंने सकारात्मक आश्वासन भी दिया गया था लेकिन अब तक ओवर ब्रिज बनाने संबंधित कोई भी प्रक्रिया शुरू नहीं की गई। उन्होंने मांग की कि जनहित को देखते हुए शीघ्र ही ओवर ब्रिज का निर्माण कराया जाए ताकि आम जनता को जाम से मुक्ति मिल जाए।