जासं, गाजीपुर : शहर कोतवाली के महुआबाग-विश्वेश्वरगंज स्थित मस्जिद में सोमवार की रात 11 जमातियों के आने की जानकारी मिलते ही आसपास के लोगों में हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने सभी को वहीं क्वारंटाइन करने के साथ पूछताछ शुरू कर दी। इस दौरान उन्होंने बताया कि सभी देहरादून के रहने वाले हैं। वह 14 मार्च को धर्म का प्रचार करने के लिए दिलदारनगर आए थे। इधर, एसीएमओ डा. पीके कुशवाहा के नेतृत्व में पहुंची मेडिकल टीम ने सभी की थर्मल स्क्रीनिग की, जिसमें छह लोग तेज बुखार से पीड़ित मिले।

अपने कौम को विभिन्न जानकारी व प्रचार-प्रसार के लिए देहरादून से 11 लोग दिलदारगनर बीते 14 मार्च को आए थे। बीते 25 मार्च को लॉकडाउन होने से उन्हें वहां रहना पड़ रह था। उन्हें जानकारी मिली कि गाजीपुर से बस जा रही है। इसके बाद सभी लोग किसी तरह नगर क्षेत्र में पहुंचे। यहां बस न मिलने पर मस्जिद में रुके। इसकी जानकारी आसपास के लोगों को हुई तो हड़कंप मच गया। जानकारी मिलते ही कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची व सभी को क्वारंटाइन रहने को कहा गया। वहीं कुछ देर बाद एसीएमओ के नेतृत्व में पहुंची मेडिकल टीम ने सभी का थर्मल स्क्रीनिग किया। इसमें छह जमाती तेज बुखार से पीड़ति पाए गए, जिन्हें तत्काल दवा उपलब्ध कराया गया। साथ ही उन्हें लॉकडाउन तक कही न आने-जाने की हिदायत दी गई।

वर्जन

- थर्मल स्क्रीनिग के दौरान छह जमाती बुखार से पीड़ित मिले हैं। सभी को दवा उपलब्ध कराई गई है। दो दिनों में अगर सुधार नहीं होता तो उन सबका स्वैब टेस्ट के लिए वाराणसी भेजा जाएगा।

- डा. पीके कुशवाहा, एसीएमओ

-----

- सभी लोगों की मेडिकल टीम द्वारा जांच की गई। उन्हें मस्जिद में ही क्वारंटाइन किया गया है। इसके अलावा पुलिस टीम द्वारा निगरानी भी रखी जा रही है।

- धनंजय मिश्रा, कोतवाल।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021