जासं, गाजियाबाद : सेक्टर-23 में रहने वाली विधवा के खाते से 40 हजार रुपये निकाल लिए गए। ठगी एटीएम कार्ड को क्लोन कर की गई है। पीड़िता को सुबह मोबाइल पर आए मैसेज देखने से पता चला। आरोप है कि सेक्टर-23 चौकी और विजयनगर थाना पुलिस उन्हें चक्कर कटवाती रही, जिसके बाद उन्होंने बेटी की मदद से ई-एफआइआर कराई है।

सेक्टर-23 में रहने वाली मनोज देवी का पीएनबी की सेक्टर-23 स्थित शाखा में खाता है। पति की मौत और बेटी की शादी के बाद वह अकेली रहती हैं। पति की पेंशन उनके खाते में आती है, जिससे वह अपना गुजारा करती हैं। मनोज देवी की बेटी रश्मि ने बताया कि मां के खाते से चार मई की रात 10-10 हजार रुपये की दो और आधी रात 12 बजे के बाद फिर से इतने ही रुपये की दो ट्रांजेक्शन हुईं। चार बार में उनके खाते से 40 हजार रुपये निकाल लिए गए। सुबह उठीं तो ठगी का पता चला। एटीएम कार्ड ब्लॉक कर वह बैंक पहुंची। यहां बताया गया कि रुपये विजयनगर के एटीएम से निकाले गए हैं।

पुलिस ने कटवाए चक्कर

पीड़ित मनोज देवी सेक्टर-23 चौकी पहुंची तो उन्हें यह कहकर विजयनगर थाने भेज दिया गया कि उनके क्षेत्र से रुपये निकले हैं। विजयनगर पहुंचीं तो यह कहकर लौटा दिया गया कि वह सेक्टर-23 में रहती हैं तो वहीं एफआइआर दर्ज होगी। पीड़िता ने अपनी बेटी को बताया। रश्मि का कहना है कि उनकी बुजुर्ग मां की मदद के बजाए पुलिस ने हर जगह से पल्ला झाड़ लिया। इसीलिए उन्होंने ई-एफआइआर कराई। एसपी सिटी श्लोक कुमार का कहना है कि साइबर ठगी के मामलों में तुरंत रिपोर्ट दर्ज करने का प्रावधान है। पीड़िता को इस तरह टालना नहीं चाहिए। दोनों थानों के प्रभारियों को तलब किया जाएगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस