जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : प्रदूषण कम करने के लिए नगर निगम खास तरह के वाटर स्प्रिंकलर टैंकर खरीदने जा रहा है। इससे प्रेशर के साथ हवा में पांच तरफ पानी की फुहार निकलेगी। उससे जमीन पर जमा धूल बैठ जाएगी। हवा में तैर रहे प्रदूषण के कण नीचे आ जाएंगे। शनिवार को मेयर आशा शर्मा ने राजनगर स्थित कैंप कार्यालय के बाहर इस वाटर स्प्रिंकलर टैंकर का डेमो देखा। अवस्थापना निधि की बैठक में इसका प्रस्ताव रखा जाएगा।

पूर्वी दिल्ली नगर निगम (ईडीएमसी) वाटर स्प्रिंकलर टैंकर की मदद से प्रदूषण पर काबू पा रहा है। जिस कंपनी ने ईडीएमसी को वाटर स्प्रिंकलर टैंकर बनाकर दिए हैं। उस कंपनी ने मेयर आशा शर्मा को टैंकर का डेमो दिखाया। इस टैंकर में मोटर लगी है। जिससे पानी आगे, पीछे, दाएं, बाएं और ऊपर से प्रेशर के साथ निकलता है। प्रेशर देने का कंट्रोल टैंकर डाइवर के पास है। उसे कम और बढ़ाया जा सकता है। कंपनी के अधिकारियों ने बताया कि एक टैंकर में 9000 लीटर पानी आता है। उससे 30 किलोमीटर तक छिड़काव संभव है। यह दावा किया कि इससे पानी की बचत होती है। सामान्य टैंकर से इतनी दूरी तक छिड़काव करने पर करीब 20 हजार लीटर पानी का इस्तेमाल होता है।

कीमत पर होगा मोलभाव

कंपनी ने एक टैंकर की कीमत 36 लाख रुपये बताई है। इसमें रखरखाव का शुल्क भी शामिल है। डीजल का खर्च निगम को वहन करना होगा। मेयर आशा शर्मा ने बताया कि कंपनी ने कीमत ज्यादा बताई है। इस पर मोलभाव किया जाएगा।

प्रत्येक जोन के लिए एक मशीन

मेयर आशा शर्मा ने बताया कि पहले पांच वाटर स्प्रिंकलर टैंकर खरीदे जाएंगे। प्रत्येक जोन के लिए एक टैंकर लिया जाएगा। अवस्थापना निधि की बैठक में इसका प्रस्ताव लाया जाएगा। शहर को प्रदूषण से छुटकारा दिलाने के लिए इसकी जरूरत है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप