जागरण संवाददाता, साहिबाबाद: अंग्रेजो भारत छोड़ो आंदोलन की वर्षगांठ के मौके पर शनिवार (8 अगस्त) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गंदगीमुक्त भारत अभियान की शुरुआत की है। इसके लिए भारतवासियों से रोजाना साफ सफाई कर घर के आसपास गंदगी न करने की अपील की है। इसकी वजह से इस दिशा में पहले से काम कर रहे पर्यावरण संरक्षक खुश हैं। उनका कहना है कि अब गंदगी हटाने के साथ ही पौध संरक्षण के लिए लोग आगे आएंगे। मूलत: पौढी गढ़वाल निवासी केपी भट्ट दिल्ली सरकार में डिप्टी कंट्रोलर ऑफ अकाउंटस के पद पर कार्यरत थे। 2012 में वह सेवानिवृत्त हुए थे। केपी भट्ट के बेटे विपुल भट्ट अमेरिका में रहते हैं। केपी भट्ट ने बताया कि वह बेटे से मिलने के लिए पांच बार अमेरिका गए। अमेरिका में लोग साफ सफाई के साथ ही घर के आसपास पर्यावरण संरक्षण के लिए खुद ही घरों के आसपास पसीना बहाते नजर आए तो उनको देख भारत लौटने के बाद केपी भट्ट भी घर के आसपास साफ सफाई के साथ ही पर्यावरण संरक्षण के लिए रोजाना दो घंटे का समय अपनी दिनचर्या में से निकालने लगे। पर्यावरण संरक्षण के लिए काम कर रहे अलग अलग संगठनों के साथ मिलकर भी वह पौधरोपण और पौधों के संरक्षण का काम करते हैं, उनको इस अवस्था में ऐसा करते देख युवा वर्ग के लो भी प्रेरित हो रहे हैं। केपी भट्ट का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद अब लोग तेजी से गंदगीमुक्त भारत अभियान से जुड़ेंगे।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस