जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : मसूरी में शनिवार रात सवा नौ बजे भाजपा नेता डॉ. बीएस तोमर की गोलियों से भूनकर हत्या के मामले में पुलिस ने 15 घंटे से पहले ही दो आरोपितों को गिरफ्तार कर मामले का पर्दाफाश कर दिया है। दावा है कि दूसरे समुदाय की किशोरी के अपहरण के मामले में टिप्पणी करने और मामले में पुलिस से एकपक्षीय कार्रवाई न करने को कहने के कारण उनकी हत्या की गई है। मामले में दो आरोपित फरार हैं, जिन पर एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया है।

बता दें कि दूधिया पीपल में क्लीनिक चलाने वाले पिलखुवा के सिखैड़ा निवासी डॉ. बीएस तोमर को स्कूटी सवार बदमाशों ने गोलियों से भून दिया था। उन्हें संजयनगर अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्होंने मौके पर ही दम तोड़ दिया था। उनके भाई सतपाल सिंह तोमर ने डासना निवासी शाहरुख व सलमान के खिलाफ हत्या और 7 सीएलए का मुकदमा दर्ज कराया था। वहीं हत्या के विरोध में दूधिया पीपल और आसपास के व्यापारियों ने रविवार को बाजार बंद रखा।

एसएसपी सुधीर सिंह ने बताया कि मौके से मिली जुपिटर स्कूटी डासना निवासी शाहरुख की थी। इसी आधार पर पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर पूछताछ के बाद तहसीम को पकड़ लिया। तहसीम से हत्या में प्रयुक्त तमंचा बरामद हुआ है। अमन कुरैशी और सलमान फरार हैं, जिनके खिलाफ इनाम घोषित किया गया है। पुलिस को घटना में एक और व्यक्ति के शामिल होने का पता चला है, जिसकी पहचान की जा रही है। एसएसपी ने बताया कि एक माह पूर्व एक महिला ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उनकी 15 वर्षीय बेटी किराये पर रहने वाले दूसरे समुदाय के युवक का नाबालिग लड़का अपने साथ बहलाकर ले गया है। इसमें बीएस तोमर ने भी पुलिस से लड़का पक्ष की पैरवी की थी। इसी कारण लड़की का भाई अमन रंजिश रखने लगा था। अमन ने चचेरे भाई सलमान और दोस्त तहसीम संग मिलकर साजिश रची। मसूरी थाना व चौकी प्रभारी निलंबित

शनिवार की आधी रात को आइजी जोन आलोक सिंह मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी लेने के बाद उन्होंने मसूरी थाना प्रभारी प्रवीन कुमार शर्मा और डासना चौकी प्रभारी संजय अत्री को निलंबित कर दिया। उन्होंने कहा कि प्रथम ²ष्टया दोनों की लापरवाही पाए जाने के कारण कार्रवाई की गई है। हत्या से पहले तीन दिन तक आरोपितों ने रेकी की थी। बदमाशों को पता था कि नौ बजे क्लीनिक बंद कर बीएस तोमर सामने वाली दुकान पर सिगरेट पीने के लिए खड़े होते हैं।

सीसीटीवी फुटेज में कैद हैं आरोपित

राजनीतिक रंजिश के बारे में परिजनों ने न तो बताया और न ही मुकदमे में जिक्र किया। रिपोर्ट किशोरी के चचेरे भाई सलमान व शाहरुख के खिलाफ दर्ज कराई गई थी। सीसीटीवी फुटेज में आरोपित भागते हुए कैद हैं। स्कूटी भी उसके दोस्त की ही है। गिरफ्तार आरोपितों के खिलाफ सभी साक्ष्यों को कोर्ट में प्रस्तुत किया जाएगा। तमंचा व मौके से बरामद खोखे की फॉरेंसिक जांच भी कराई जाएगी।

- सुधीर कुमार सिंह, एसएसपी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप