जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : बुधवार को डेंगू के 12 और मलेरिया के दो मरीज मिले हैं। स्क्रब टाइफस के तीन मरीज मिलने के साथ ही मरीजों की संख्या 37 पर पहुंच गई है। जिला सर्विलांस अधिकारी डा. आरके गुप्ता ने बताया कि डेंगू के नए मरीजों में दो बच्चे और तीन महिलाएं शामिल हैं। सबसे अधिक चार मरीज राजनगर एक्सटेंशन में मिले हैं। इंदिरापुरम के दो, नेहरूनगर, शास्त्रीनगर, वसुंधरा, शालीमार गार्डन, विजयनगर और इंदरगढ़ी में एक-एक मरीज मिला है। दस मरीजों को अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। दो का इलाज घर पर चल रहा है। डेंगू के कुल मरीजों की संख्या 121 और मलेरिया के केस 13 हो गए हैं।

----- 33 जगह मिला डेंगू का लार्वा मलेरिया विभाग की टीमों को स्थलीय जांच एवं निरीक्षण के दौरान शहरी एवं देहात क्षेत्रों में 33 जगहों पर लार्वा मिला है। विजयनगर और मोहन नगर में कूलर, एसी के अलावा टायर और गमलों में भी एडीस मच्छर का लार्वा मिला है। लार्वा नष्ट कराते हुए सीएमओ डा. भवतोष शंखधर की मौजूदगी में सहायक मलेरिया अधिकारी विनीता मिश्रा ने संबंधित लोगों को नोटिस जारी किया है। बताया गया है कि पैथोलाजी लैब में रोज डेंगू के 50 से 90 सैंपल की जांच की जा रही है। डा. सुरुचि सैनी ने बताया कि निजी अस्पतालों के साथ ही जिला अस्पताल एमएमजी की ओपीडी के सैंपल भी जांच में शामिल किए जा रहे हैं। लैब टेक्नीशियन भी 24 घंटे लैब पर सैंपल ले रहे हैं।

------------

अब तक इन क्षेत्रों में मिले हैं डेंगू के नए मरीज

राजनगर एक्सटेंशन, कविनगर, राजनगर, इंदिरापुरम, वैशाली, कौशांबी, वसुंधरा, संजयनगर, शास्त्रीनगर, गोविदपुरम, नेहरूनगर, पटेलनगर, शिब्बनपुरा, मोदीनगर, मुरादनगर, राजेंद्रनगर, शालीमार गार्डन, वृंदावन गार्डन, विजयनगर, प्रताप नगर, चिरंजीव विहार, क्रासिग रिपब्लिक, जैन नगर, छोटी बजरिया, नीतिखंड इंदिरापुरम, आर्यनगर, अटौर नंगला, सीमांत विहार कौशांबी, डीएलएफ अंकुर विहार लोनी, एच ब्लाक गोविदपुरम, शिवपुरी विजयनगर, 47 पीएसी बटालियन गोविदपुरम, इंदरगढ़ी, जयपुरिया ग्रीन,अशोका सोसायटी वसुंधरा,

-------- नए मरीजों का विवरण

रोग नए मरीज सक्रिय केस कुल

डेंगू 12 79 121

मलेरिया 2 5 13

स्क्रब टाइफस 3 25 37 --------- डेंगू और मलेरिया से बचाव के लिए घर एवं आसपास पानी जमा न होने दें। शरीर को पूरा ढंकने वाले कपड़े ही पहने। मच्छरदानी लगाकर ही सोएं। बुखार होने पर जांच जरूर कराएं। नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर सैंपल देकर निश्शुल्क दवा ली जा सकती है। कूलर में पानी न रखें। गमलों की रोज सफाई करें।

- डॉ. आरके गुप्ता, जिला सर्विलांस अधिकारी

Edited By: Jagran