जागरण संवाददाता, साहिबाबाद: दिल्ली से एंट्री करते ही जीटी रोड पर जाम झेलने वाले वाहन चालकों के लिए अच्छी खबर है। जल्द ही जीटी रोड पर लोगों को जाम से निजात मिल जाएगी। लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) ज्ञानी बॉर्डर से शहीदनगर तक जीटी रोड का निर्माण तेजी से कर रहा है। दावा है कि नए साल पर इसे वाहन चालकों के लिए खोल दिया जाएगा। 6.7 करोड़ रुपये की लागत से यहां सीसी रोड बनाई जा रही है। लगातार पानी भरने के कारण सड़क टूटने की समस्या के चलते सीसी रोड बनाने का निर्णय लिया गया है।

जीटी रोड भारत की सबसे पुरानी सड़कों में से एक है। सबसे पुराना हाईवे होने के बाद भी गाजियाबाद में इसका बुरा हाल है। ज्ञानी बॉर्डर से गाजियाबाद में प्रवेश करते ही सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढे हैं। पिछले कुछ दिनों में ही यहां कई ट्रक पलटने की घटनाएं हो चुकी हैं। इसके बाद पीडब्ल्यूडी ने इस रोड के निर्माण की रूपरेखा तैयार की। अब तेजी से काम जारी है।

-------------

6.7 करोड़ रुपये से बन रही सीसी रोड: पीडब्ल्यूडी अधिकारियों के अनुसार ज्ञानी बॉर्डर से शहीद नगर तक का रोड निर्माण जारी है। अधिकारियों ने बताया कि सड़क पर लगातार पानी भरता है। इसके चलते डामर की सड़क कुछ समय में ही टूट जाती है। इसे देखते हुए सीसी रोड बनाने का निर्णय लिया गया है। टूटी सड़क पर आए दिन वाहन चालकों को जाम से जूझना पड़ता है।

-----------

विशेष नियमों के तहत बनाई जा रही रोड: अधिकारियों के अनुसार हाईवे पर सीसी (सीमेंट कंक्रीट) रोड बनाने के लिए अनुमति लेनी होती है। यहां लंबे समय से आ रही सड़क टूटने की समस्या को देखते हुए सीसी रोड बनाने का निर्णय लिया गया है। इसके लिए अधिकारियों ने आला अधिकारियों से विशेष अनुमति ली है। गौरतलब है कि जीटी रोड पर ही आइएमई कॉलेज के सामने भी पीडब्ल्यूडी सीसी रोड का निर्माण कर चुका है।

----------

रोड निर्माण तेजी से जारी है। दो माह के अंदर इसे खत्म करने का लक्ष्य है। सड़क का आधा हिस्सा बन चुका है। जल्द ही काम पूरा कर वाहन चालकों के लिए इसे खोल दिया जाएगा।

- मनीष वर्मा, अधिशासी अभियंता, लोक निर्माण विभाग

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस