जागरण संवाददाता, गाजियाबाद: आरपीएफ और जीआरपी की संयुक्त टीम ने ट्रेन में चढ़ते वक्त पर्स पर हाथ साफ करने वाले गिरोह के तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक अधेड़ महिला भी शामिल है, जिसे शक या पुलिस पूछताछ से बचने के लिए दोनों अपने साथ रखते थे। हालांकि महिला भी चोरी व जेब तराशने में माहिर है। इनके पास से पुलिस ने लाखों रुपये की ज्वैलरी और एक चाकू बरामद किया है। बरामद सामान के आधार पर गाजियाबाद जीआरपी थाने में दर्ज दो मामलों का पर्दाफाश किया गया है।

जीआरपी थाना प्रभारी अशोक सिसौदिया ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित अलीगढ़ के बन्ना देवी निवासी फैजी मेवाती व इरशाद और पश्चिम बंगाल के टीटागढ़ निवासी शहनाज बेगम हैं। तीनों करीब एक साल से साथ हैं। आरोपितों ने 22 जून को गाजियाबाद स्टेशन से ट्रेन में चढ़ते समय आशा पीर का बैग उड़ा लिया था। इसमें सोने की चेन, पेंडेंट व दो कंगन रखे थे। साथ ही आरोपितों ने एक अन्य महिला से नौ जुलाई को ट्रेन में चढ़ते समय पर्स चोरी कर लिया था। इसमें कुंडल व टॉप्स समेत अन्य सामान रखा था। बैग से निकाल लेते हैं पर्स

थाना प्रभारी ने बताया कि तीनों आरोपित बेहद शातिर हैं। बीते एक साल से लगातार ट्रेनों में चढ़ती सवारियों के बैग से छोटा पर्स निकाल लेते हैं। महिला साथ होने की वजह से कोई शक नहीं करता। शहनाज भी थाना जीआरपी मुबंई सेंट्रल और नई दिल्ली जीआरपी द्वारा पूर्व में गिरफ्तार की जा चुकी है। वहीं मेवाती व इरशाद भी 3-4 बार जेल जा चुके हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस