जागरण संवाददाता, गाजियाबाद: कविनगर थाने के सामने पॉश इलाके शास्त्रीनगर में शनिवार को दिनदहाड़े कोयला कारोबारी के घर सोना व चांदी समेत करीब 40 लाख की चोरी कर ली गई। घटना के समय कारोबारी परिवार संग वृंदावन गए थे। शाम करीब चार बजे लौटे तो चोरी के बारे में पता चला। सूचना पर पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया। पुलिस की जांच के साथ के साथ फॉरेंसिक टीम ने भी मौके से साक्ष्य जुटाए हैं। एसएचओ कविनगर राजकुमार राजकुमार शर्मा ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज कर मामले की छानबीन की जा रही है।

शास्त्रीनगर के ए ब्लॉक में रहने वाले बीएस गर्ग कोयला कारोबारी हैं। उनकी पटेल मार्ग पर फर्म है, जिसमें बड़ा बेटा सुनील व छोटा बेटा सुमित भी हाथ बंटाते हैं। मंझला अमित गर्ग बेटा अमेरिका के कैलिफोर्निया की एक कंपनी में इलेक्ट्रिकल इंजीनियर हैं। घर में कारोबारी की पत्नी सुधा शकुंतला व सुनील का परिवार रहता है। सुनील पत्नी व बेटी संग मेरठ गए हुए थे, जबकि बीएस गर्ग, सुमित व पत्नी संग कार से शनिवार सुबह वृंदावन के लिए निकले थे। घर के मुख्य द्वार व पहले वाले कमरे का ताला लगाया था, जबकि अंदर के रूम खुले हुए थे। शाम करीब चार बजे लौटे तो मुख्य द्वार का ताला लगा था, जबकि पहले कमरे का ताला टूटा मिला। आशंका है कि चोर चारदिवारी फांदकर अंदर घुसे थे। तहरीर के मुताबिक चोर शकुंतला के कमरे की अलमारी का ताला तोड़कर एक लाख रुपये, आधा किलो सोने के गहने और दो किलो चांदी ले गए। पीड़ित के मुताबिक तब तक सुनील नहीं लौटा था, जिस कारण उस समय जो पता चला, उसी आधार पर तहरीर दी थी। मुकदमा दर्ज होने के बाद सुनील मेरठ से लौटे तो पता चला कि उनकी अलमारी से भी करीब 700 ग्राम सोने के गहनों की चोरी किए गए हैं। थाने के सामने हुई चोरी

कविनगर थाने के ठीक सामने शास्त्रीनगर ए ब्लॉक है। डबल लेन के रोड के बाद इस ब्लॉक के पहले ही कट में कारोबारी का घर है। उनके घर से थाने की दूरी 100 मीटर बमुश्किल होगी। उनके गेट में ट्रिपल लॉक लगा हुआ था, जिसे काफी मशक्कत के बाद खोला गया है। पीड़ितों ने पुलिस की सक्रियता पर सवाल उठाते हुए कहा कि दिनदहाड़े चोर करीब एक घंटे तक उनके घर में आतंक मचाते रहे, लेकिन पुलिस को भनक तक नहीं लगी। नहीं मिली सीसीटीवी फुटेज

कारोबारी के घर सीसीटीवी कैमरे नहीं लगे हैं। आसपास के घरों में भी कैमरे नहीं हैं। करीब 100 मीटर दूर एक कैमरे से फुटेज मिली है, लेकिन उसमें कुछ साफ नहीं दिख रहा है। चोरी के बाद आसपास के लोगों ने बताया कि दिन में दो व्यक्ति घर के दोनों छोरों पर खड़े थे। आशंका है कि चोरों की संख्या 4-5 रही होगी, जिनमें से दो बाहर खड़े होकर निगरानी करते रहे और बाकी ने घर पर हाथ साफ कर दिया।

नजदीकी शामिल होने की आशंका

पुलिस के मुताबिक चोरी की घटना में किसी करीबी के शामिल होने की आशंका है। महज कुछ घंटों के लिए परिवार बाहर था और इसी दौरान चोरी को अंजाम दिया गया। लग रहा है कि चोरों को कारोबारी के घर से बाहर जाने और लौटकर आने की पूरी जानकारी थी। एसएचओ का कहना है कि विभिन्न एंगल पर जांच की जा रही है। जल्द ही आरोपितों की पहचान कर उनकी गिरफ्तारी की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस