जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : कलेक्शन एजेंट ने 23 लाख 78 हजार रुपये गबन करने के लिए लूट का फर्जी नाटक रचा। आरोपित शुक्रवार देर शाम को थाने पहुंचा और बदमाशों द्वारा बेहोश कर लूटपाट करने की सूचना दी। उसकी कहानी पर संदेह जाहिर कर पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया। पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो आरोपित ने हकीकत बयां कर दी। आरोपित की पत्नी ने उसके लापता होने पर शुक्रवार सुबह अपहरण का केस दर्ज कराया था। पुलिस ने आरोपित को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है।

एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि क्रॉसिग रिपब्लिक निवासी सोहनलाल जैन लोहा मंडी में सरिया और सीमेंट के थोक व्यापारी हैं। उनके पास न्यू शांति नगर निवासी दिनेश कलेक्शन एजेंट का काम करता है। बृहस्पतिवार शाम को दिनेश ग्राहकों से 23 लाख 78 हजार रुपये लेकर लौट रहा था। इस दौरान वह रास्ते में लापता हो गया। उसका नंबर भी बंद हो गया। शुक्रवार सुबह को दिनेश की पत्नी ममता ने विजय नगर थाने में उसके अपहरण का केस दर्ज कराया। सोहनलाल ने भी शुक्रवार दोपहर को विजय नगर थाने में दिनेश द्वारा रकम लेकर गायब होने की सूचना दी। पुलिस ने दिनेश की तलाश शुरू कर दी। शनिवार देर शाम को दिनेश फटे कपड़ों व मिट्टी में लथपथ हालत में खुद विजय नगर थाने पहुंचा और अपने साथ लूट होने की जानकारी दी। उसने बताया बदमाश लूटपाट करने के बाद उसे बेहोशी की हालत में डासना स्थित एक खेत में छोड़कर फरार हो गए। पुलिस ने जब दिनेश को हिरासत में लेकर सख्ती पूछताछ की तो उसने बताया कि उसने अपने साले अलीगढ़ निवासी पप्पू के साथ मिलकर रकम गबन करने के लिए लूट की फर्जी कहानी बनाई थी। उसके ऊपर कर्ज हो गया था। कर्ज से निजात पाने के लिए उसने पैसा गबन कर खुद के लापता होने की साजिश रची। रकम उसने साले पप्पू के घर अलीगढ़ में सुरक्षित रख दी थी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस