-फोटो- नं.- 16मोदी-1

-मेरठ रोड पर करीब पांच किमी तक लग गया जाम

जागरण संवाददाता, मोदीनगर : दिल्ली-मेरठ हाईवे पर शनिवार तड़के कादराबाद में भूसे से भरी ट्रैक्टर-ट्राली अनियंत्रित होकर पलट गई। इससे हाईवे पर करीब पांच किलोमीटर लंबा जाम लग गया। कुछ वाहन विपरीत दिशा में आ गए जिससे गाजियाबाद की तरफ भी दो किलोमीटर तक वाहनों की कतारें पहुंच गई। इससे राहगीरों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ा। पुलिस को भूसे से भरे ट्रैक्टर-ट्राली को हटवाने में आठ घंटे से भी ज्यादा का समय लग गया।

भूसे से भरी ट्रैक्टर-ट्राली शनिवार तड़के मोदीनगर से मेरठ की ओर जा रही थी। तड़के करीब चार बजे के आसपास जब वह कादराबाद में पहुंची तो पीछे से आए ट्रक ने ट्रैक्टर-ट्राली में साइड मार दी। इससे ट्रैक्टर-ट्राली अनियंत्रित होकर सड़क किनारे पलट गई। भूसा भी बीच सड़क पर ही फैल गया और केवल एक वाहन के निकलने की ही जगह बची। जबकि, शनिवार को सप्ताहांत होने के कारण हाईवे पर वाहनों का काफी दबाव था। इससे हाईवे पर दिन निकलते ही वाहनों की गति पूरी तरह थम गई। करीब नौ बजे मेरठ की तरफ वाहनों की कतारें पांच किलोमीटर लंबी पहुंच गई। इससे लोग बेहाल हो गए। आठ घंटे बाद करीब 12 बजे के आसपास पुलिस की नींद टूटी और ट्रैक्टर-ट्राली को हटवाने की मशक्कत शुरू की गई। भूसा और ट्रैक्टर-ट्राली हटने के बाद भी करीब एक बजे हाईवे पर यातायात सुचारु हो सका।

उधर, जाम से बचने के लिए कुछ लोग विपरीत दिशा में आ गए। इससे मेरठ से गाजियाबाद की ओर भी लोगों ने करीब दो किलोमीटर लंबा जाम झेला। जाम में कई एंबुलेंस और वीआइपी वाहनों को भी फंसे रहना पड़ा। सबसे ज्यादा दिक्कत एंबुलेंस में सवार बीमार और तीमारदारो को हुई। इसके अलावा मुरादनगर में भी गंगनहर के आसपास वाहनों की अधिकता के चलते हाईवे पर वाहनों की गति ठहर गई। मेरठ की ओर गंगनहर से लेकर आयुध निर्माण गेट के सामने तक दिनभर लोगों ने जाम में फंसकर मुसीबत का सामना किया।

इस बारे में सीओ सुनील कुमार सिंह का कहना है कि पुलिस ने समय रहते ट्रैक्टर ट्राली को हटवा दिया था। पुलिस सूचना मिलते ही मौके पर पहुंच गई थी। एक लेन लगातार चलती रही। वैसे शनिवार को वाहनों का हाईवे पर थोड़ा दबाव भी रहता है। इसी के चलते लोगों को थोड़ी दिक्कत का सामना करना पड़ा।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021