संवाद सहयोगी, लोनी (गाजियाबाद): ट्रॉनिका सिटी थाना इलाके की खुशहाल पार्क कालोनी में बुधवार सुबह लेनदेन को लेकर हुए पथराव में डेयरी संचालक की मौत हो गई। मृतक के परिजन ने मां, बेटा और बेटी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। घटना के बाद से आरोपित फरार हैं। पुलिस शव पोस्टमार्टम को भेजकर आरोपितों की तलाश में जुटी है।

गांव खजूरी दिल्ली में दूध डेयरी संचालक अमित (25) परिवार के साथ रहते थे। उनके पड़ोस में रहने वाली गीता मंडल करीब दो माह पूर्व बेटे मासूम और बेटी ममनी के साथ लोनी की खुशहाल पार्क कालोनी में रहने आ गई। अमित का गीता से कुछ लेनदेन था। बुधवार सुबह करीब नौ बजे वह अपने रुपये लेने के लिए अपने दोस्त धर्मवीर के साथ खुशहाल पार्क कालोनी पहुंचे। जहां घर में बातचीत के दौरान दोनों में विवाद के बाद मारपीट हो गई। गीता उसके बेटे और बेटी ने दोनों को धक्के देकर बाहर निकाल कर मकान का दरवाजा बंद कर लिया। प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो अमित और धर्मवीर ने मकान पर पथराव कर दिया। कुछ देर बाद तीनों अपने मकान की ऊपरी मंजिल पर पहुंचे। तीनों ने वहां से अमित और धर्मवीर पर ईंटे फेंकना शुरू कर दिया। एक ईंट अमित के सिर में जा लगी। वह लहूलुहान होकर जमीन पर गिर गया। अमित के ईंट लगने पर उसका दोस्त वहां से भाग गया। इसी दौरान आरोपित गीता, मासूम और ममनी भी मौके से फरार हो गए। कालोनी के लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। पुलिस अमित को गंभीर हालत में उपचार के लिए दिल्ली के निजी अस्पताल पहुंची। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। ट्रॉनिका सिटी थाना प्रभारी श्यामवीर ¨सह का कहना है कि परिजनों ने गीता, बेटे मासूम और बेटी ममनी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए संभावित स्थानों पर दबिश दी जा रही है। जल्द आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

15 मिनट तड़पता रहा अमित : बुधवार सुबह अमित और धर्मवीर खुशहाल पार्क कालोनी पहुंचे थे। करीब 20 मिनट वह घर में बैठ कर बात करते रहे। विवाद होने पर गीता और अन्य परिजनों ने उन्हें धक्का देकर बाहर निकाल दिया। ईंट लगने पर अमित लहूलुहान होकर गिर गया लेकिन उसकी मदद के लिए कोई आगे नहीं आया। करीब 20 मिनट तक वह वहीं तड़पता रहा। लोग वहां खडे़ वीडियो बनाते रहे। यदि कालोनी के लोग उसकी मदद के लिए आगे आते तो उसकी जान बच सकती थी।

मादक पदार्थ भी बना विवाद का कारण : पुलिस जांच में सामने बाया है कि दोनों पक्षों के बीच मादक पदार्थों के लेन-देन को लेकर भी विवाद हुआ था। पुलिस इसकी भी जांच कर रही है कि विवाद स्मैक अथवा डोडा बेचने को लेकर तो नहीं हुआ था। कुछ लोगों ने पुलिस को मामले के मादक पदार्थों की बिक्री से जुड़े होने की जानकारी दी है।

Posted By: Jagran