गाजियाबाद [आशुतोष गुप्ता/ मदन पांचाल]। ग्रेटर नोएडा से कर्मचारियों को लेकर आ रही एलजी कंपनी की एक बस बुधवार रात करीब सवा नौ बजे जीटी रोड पर भाटिया मोड़ आरओबी से नीचे गिर गई। बस में सवार आठ कर्मचारियों सहित नौ लोग घायल हैं जिन्हें शहर के एमएमजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हादसे में बस से टकराकर बाइक सवार व्यक्ति की मौत हुई है, फिलहाल उसकी पहचान नहीं हो पाई है।

ग्रेटर नोएडा स्थित एलजी कंपनी से आठ कर्मचारियों को लेकर बस रोजाना की तरह गाजियाबाद आ रही थी। लालकुआं से मोहननगर की ओर जाते समय भाटिया मोड़ आरओबी पुल पर बस का अगला टायर फट गया। जिसके बाद बस अनियंत्रित बस डिवाइडर तोड़ते हुए सड़क की दूसरी लेन में चली गई और एक बाइक सवार को टक्कर मारते हुए आरओबी से नीचे दौलतपुरा कॉलोनी की तरफ जा गिरी। अचानक हुए हादसे से आसपास अफरा- तफरी मच गई। 

 

सूचना पर पुलिस और स्वास्थ्य विभाग टीमों ने मौके बस में सवार लोगों को राहगीरों और स्थानीय निवासियों की मदद से बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया। बाइक सवार युवक की मौके पर ही मौत हो गई। वह कहां का रहने वाला है इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। बस में सवार कर्मचारियों में एक घायल की पहचान सुनील पुत्र हरिहर और दूसरे की दीपक के रूप में हुई है। लोहारपुरा कालोनी निवासी इंजीनियरिंग का छात्र आसिफ भी बस की चपेट में आने से घायल हुआ है। आसिफ अपने घर से किताब लेने जा रहा था, तभी बस अचानक गिरी और वह उसकी जद में आ गया। 

घायलों का हाल जानने पर पहुंचे मंत्री अतुल गर्ग

देर रात उत्तर प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री अतुल गर्ग, जिलाधिकारी राकेश सिंह और एसएसपी पवन कुमार जिला एमएमजी अस्पताल पहुंचे और घायलों का हालचाल लिया।

घायल आसिफ की मां ने बताया कि उनका बेटा आरकेजीआईटी से इंजीनियरिंग कर रहा है और शाम को लोहार पुरा स्थित घर से किताब लेने के लिए निकला था जैसे ही उसने ऊपर देखा कि एक बस गिर रही है तो वह तेजी से बचने के लिए पीछे की तरफ भागा और नीचे गिर गया जिससे उसके पैर पर गंभीर चोट आ गई है।

आसिफ की मां मीना और पिता यामीन ने बताया कि वह चिपयाना बुजुर्ग स्थित बाजार में अंडे की स्टाल लगाकर अपना घर चलाते हैं लेकिन देर शाम को उसके बेटे के ऊपर बस का कुछ हिस्सा पैर पर गिरने से घायल हो गया है। आसिफ का जिला एमएमजी अस्पताल की इमरजेंसी में इलाज चल रहा है।

Edited By: Mangal Yadav