जागरण संवाददाता, गाजियाबाद : गंदगी, अतिक्रमण और जल निकासी की समस्या से जूझ रहे हापुड़ रोड स्थित गंगापुरम और फ्लोरा एन्क्लेव के निवासियों ने मंगलवार शाम हापुड़ रोड जाम कर दिया। महिलाएं बच्चों को लेकर सड़क पर पहुंचीं और चलते ट्रैफिक को रुकवाकर हाईवे पर बैठ गईं। सूचना मिलते ही पहुंची स्थानीय पुलिस व एसडीएम सदर विनय सिंह ने लोगों को आश्वासन दिया, लेकिन लोग नहीं उठे। जाम लगाने के साथ महिलाओं ने अधिकारी व जनप्रतिनिधियों के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। तुरंत नगर निगम की टीम को बुलाया और काम शुरू होने के बाद लोग अपने घर लौटे। डेढ़ घंटे तक हापुड़ रोड पर यातायात बाधित रहा, जिस कारण दोनों ओर भारी जाम लगा।

गंगापुरम आरडब्ल्यूए के अध्यक्ष बीके शर्मा हनुमान ने बताया कि गंगापुरम हापुड़ रोड के किनारे ही स्थित हैं और यहां करीब दो हजार परिवार रहते हैं। यहां का नाला बंद है और नालियों पर भी लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है। इतना ही नहीं मुख्य नाला भी गंदगी से अटा है। इस कारण घरों से निकलने वाला गंदा पानी गलियों में इकट्ठा होकर सड़ रहा है। फ्लैट आनर फेडरेशन के सदस्य आलोक दास ने बताया कि यहां की सफाई व्यवस्था भी ठप है। सैकड़ों बार अधिकारियों से गुहार लगा चुके, लेकिन आज तक सुनवाई नहीं हुई। कालोनी के द्वार के आसपास दुकानदारों ने नाले पर पूरी तरह से कब्जा किया हुआ है, जिस कारण सफाई नहीं होती। नारकीय जीवन से तंग आकर लोग मंगलवार को सड़क पर उतरे। निधि जैन, विनोद कुमार व हृदयेश गोयल समेत कई लोग मौजूद रहे। शाम पांच बजे महिलाएं और बच्चे सड़क पर पहुंचे और सात बजे नगर निगम की टीम ने अतिक्रमण हटाना शुरू किया तब जाकर लोग हाईवे से हटे। अतिक्रमण हटाने के साथ सफाई का काम भी तुरंत शुरू किया गया।

एसडीएम सदर ने बताया कि सबसे पहले लोगों को सड़क से उठाया, क्योंकि छोटे-छोटे कई बच्चे भी बैठे थे। उनकी जान को खतरा हो सकता था। लोगों को समझाकर पहले जाम खुलवाया। इसके बाद महिलाओं की समस्या सुनी और नगर निगम के अधिकारियों को मौके पर बुलाकर काम शुरू कराया गया।

Edited By: Jagran