जागरण संवाददाता, गाजियाबाद: पहले चरण के मतदान के लिए जिले की प्रमुख पार्टियों ने 80 फीसद उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं। चुनावी घोषणा के बाद से अभी तक पार्टी कार्यालय ही चुनाव के मद्देनजर वार रूम के रूप में रहे, लेकिन रविवार से हर प्रत्याशी का अलग वार रूम होगा। अलग-अलग कर रहे बैठक : दैनिक जागरण की टीम शनिवार को वार रूम का जायजा लेने पहुंची तो आरडीसी स्थित बसपा कार्यालय पर खाली कुर्सियां मिलीं। जिलाध्यक्ष विरेंद्र जाटव ने बताया कि कोरोना के कारण इस बार चुनावी बैठक अलग-अलग विधानसभा क्षेत्रों बैठक की जा रही हैं। ऊपर से ही ऐसे निर्देश हैं, इसीलिए कार्यालय पर भीड़ नहीं जुटने देते। रालोद-सपा पदाधिकारी करते मिले मंत्रणा : आरडीसी में सपा कार्यालय पहुंचे तो यहां सपा जिलाध्यक्ष राशिद मलिक, महानगर अध्यक्ष राहुल चौधरी और रालोद के जिलाध्यक्ष तेजपाल चौधरी अन्य पदाधिकारियों के साथ मंत्रणा करते मिले। मुख्य तौर पर मुरादनगर सीट के टिकट पर चर्चा चल रही थी, जिसकी घोषणा शाम को हो गई। रात तक चली विधायक के साथ बैठक : नेहरूनगर स्थित भाजपा कार्यालय पर महानगर प्रभारी एवं प्रदेश मंत्री अमित वाल्मीकि ने दिन में बैठक की थी। प्रत्याशियों की घोषणा के बाद रात में महानगर क्षेत्र के तीनों विधायकों के साथ महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा ने बैठक की। देर रात तक चली बैठक में भाजपाइयों ने रणनीति और प्रत्याशियों के कार्यालय खोलने संबंधी कई फैसले किए। बैठक के बाद आप ने किया जनसंपर्क : सेक्टर-23 स्थित आम आदमी पार्टी के कार्यालय पर जिलाध्यक्ष चेतन त्यागी व जिला प्रभारी विवेक सिंह गुर्जर ने पदाधिकारियों के साथ बैठक की और फिर अलग-अलग टीम बनाकर चारों घोषित प्रत्याशियों के साथ क्षेत्र में जाकर जनसंपर्क किया। आज से कार्यालय खोलेंगे कांग्रेसी : कंपनी बाग स्थित कांग्रेस कार्यालय पहुंचे तो यहां चंद नेता बैठे थे। महानगर अध्यक्ष लोकेश चौधरी ने बताया कि उनकी तबीयत खराब थी तो सुबह की बैठक में नहीं पहुंचे। रविवार से कांग्रेस के घोषित प्रत्याशियों के कार्यालय खोलने की शुरुआत हो जाएगी। इसके बाद विधानसभा क्षेत्रवार बैठक कर रणनीति बनाएंगे।

Edited By: Jagran