जासं, गाजियाबाद : रेलवे की अभी श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने की कोई योजना नहीं है। कोरोना के बढ़ते मामलों और रात्रि क‌र्फ्यू लगने के बाद इंटरनेट मीडिया पर श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलाने का मैसेज इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो रहा है। पिछले साल लॉकडाउन के दौरान गाजियाबाद स्टेशन से एक दर्जन से ज्यादा श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई गई थीं।

पिछले साल लॉकडाउन के दौरान ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया था। आवागमन के अन्य साधन भी बंद होने पर बड़ी संख्या में कामगार पैदल अपने घर लौट रहे थे। कामगारों को घर भेजने के लिए गाजियाबाद से श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई गई थीं। कामगारों को रामलीला मैदान में एकत्रित कर बस से रेलवे स्टेशन तक लाया गया था। अब फिर से अप्रैल में बढ़ते कोरोना पर नियंत्रण करने के लिए डीएम जिले रात्रि क‌र्फ्यू लगा चुके हैं। रात्रि क‌र्फ्यू लगने के बाद इंटरनेट मीडिया पर लॉकडाउन लगने और श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलने के फर्जी मैसेज वायरल हो रहे हैं। गाजियाबाद के रेलवे अधिकारियों ने स्पेशल ट्रेन चलाने की बात से इनकार किया है।

-----

रेलवे ने किया ट्वीट

सेंट्रल रेलवे ने भी ट्वीट कर इस तरह के मैसेज को गलत बताया है। रेलवे ने ट्विटर पर लिखा है कि इंटरनेट मीडिया पर यह जानकारी गलत फैलाई गई है कि रेलवे श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चला रहा है। श्रमिक स्पेशल ट्रेनें नहीं चलाई जा रहीं हैं ना ही चलाने की कोई योजना है। रेलवे सिर्फ कुछ रूटों पर स्पेशल ट्रेन चला रहा है। यात्री इस तरह की अफवाहों पर ध्यान न दें। -----

गाजियाबाद में रेलवे की तरफ से कोई श्रमिक स्पेशल ट्रेन नहीं चलाई जा रही है। यात्री इस प्रकार के मैसेज पर ध्यान न दें। एक्सप्रेस व लोकल ट्रेनें चल रही हैं, यात्री टिकट लेकर यात्रा कर सकते हैं।

- कुलदीप त्यागी, स्टेशन अधीक्षक

Edited By: Jagran