जागरण संवाददाता,गाजियाबाद: मंगलवार को डेंगू के सात नए मरीज मिले हैं। मलेरिया का एक मरीज मिलने के साथ ही अतिसंवेदनशील इलाकों की संख्या पचास से बढ़ाकर 66 कर दी गई है। अब तक डेंगू के 43 और मलेरिया के दस मरीज मिल चुके हैं। जिला सर्विलांस अधिकारी डा. आरके गुप्ता ने बताया कि डेंगू के सात नए मरीजों में दो मेरठ से ट्रांसफर होकर आए हैं। जिले के इन दोनों मरीजों का इलाज मेरठ के अस्पतालों में चल रहा है।

नए मरीजों में सागर शर्मा शालीमार गार्डन, ज्योति मुरादनगर, यशस्वी शास्त्रीनगर, नीलम वसुंधरा, कौशल चिरंजीव विहार, रश्मि मुरादनगर और इंदिरापुरम के शौर्य जैन शामिल हैं। इनमें दो बच्चे और तीन महिलाएं हैं। मलेरिया की नई मरीज सीमा कुमारी वैशाली है। शहरी और देहात क्षेत्रों में जांच और सर्वे के दौरान 32 स्थानों पर डेंगू का लार्वा मिलने पर संबंधित लोगों को नोटिस जारी किया गया है। चेतावनी दी गई है कि कूलर, गमले और नालियों की सफाई न करने पर महामारी अधिनियम के तहत वाद दायर कर दिया जाएगा। नेहरूनगर, वसुंधरा, पटेलनगर, उदलनगर, कविनगर, राजनगर, वृंदावन गार्डन, इंदिरापुरम, गोविदपुरम, कनावनी, राजेंद्रनगर, पंचवटी, संजयनगर में डेंगू का लार्वा मिलने पर उसे नष्ट कराया गया है। मौके पर सफाई के साथ एंटी लार्वा केमिकल का छिड़काव कराया गया है। पानी के सात नमूने फेल: संक्रामक रोग फैलने के बीच पानी के नमूने भी जांच में फेल मिल रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, विगत 10 दिन में जिले के अलग-अलग क्षेत्रों से लिए गए पानी के 13 नमूने जांच में फेल पाए गए हैं। मंगलवार को ही सात नमूने फेल मिले हैं। इनमें वसुंधरा, वैशाली, विजयनगर और मोहनगर से लिए गए सैंपल शामिल हैं। इससे साफ है कि जिले के लोग गंदा पानी पीकर भी बीमार हो रहे हैं। 10 अक्टूबर तक पूरे जिले में डेंगू, मलेरिया, बुखार, कोरोना और टीबी को लेकर सघन जांच एवं इलाज के लिए अभियान चलेगा। रोज संक्रामक रोगों की रोकथाम को लेकर एंटी लार्वा का छिड़काव होगा। टीमें क्षेत्रों में घर-घर जाकर बुखार के मरीजों को ट्रेस करेंगी।

- डॉ. भवतोष शंखधर, सीएमओ

मरीजों का विवरण

वर्ष डेंगू मलेरिया 2016 621 128

2017 232 293 2018 68 150 2019 88 142 2020 15 13

2021 43 10

Edited By: Jagran